जागरण संवाददाता, मार्टीनगंज (आजमगढ़) : बरदह थाना क्षेत्र के इसहाकपुर गांव में चार दिन पूर्व खेत में बकरी चराने की बात को लेकर शुरू हुआ विवाद शुक्रवार की सुबह ¨हसक रूप धारण कर लिया। इस दौरान फाय¨रग व धारदार हथियारों का खुला प्रयोग किया गया। दो समुदायों के बीच हुए ¨हसक संघर्ष में दोनों पक्षों के चार लोग जख्मी हो गए। गंभीर रूप से घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस घटना से गांव में व्याप्त तनाव को देखते हुए पुलिस व पीएसी के जवान तैनात कर दिए गए हैं।

क्षेत्र के इसहाकपुर ग्राम निवासी शिवकुमार राजभर का 10 वर्षीय पुत्र अभिषेक गत 25 जून को घर के पास बकरी चरा रहा था। उस दौरान बकरी गांव के तौकीर अहमद के खेत में चली गई। यह देख तौकीर ने अभिषेक को थप्पड़ जड़ दिए। इस बात को लेकर दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई। उस दौरान मामला शांत हो गया, लेकिन दोनों पक्षों के बीच तनातनी बनी रही। गत बुधवार को शिवकुमार के घर कुछ रिश्तेदार आए थे। उनकी खातिरदारी के लिए परिजनों ने शिवकुमार के बड़े पुत्र रंजीत (25) को मीट लेने के लिए बाजार भेजा था। क्षेत्र के बक्सपुर बाजार से मीट खरीद कर घर लौट रहे रंजीत पर गांव के पास दूसरे पक्ष के लोगों ने हमला बोल दिया। मारपीट में रंजीत बुरी तरह घायल हो गया। घटना के बाबत घायल पक्ष द्वारा बरदह थाने में नामजद तहरीर दी गई। पुलिस ने इस मामले में आरोपित तौकीर सहित तीन लोगों को पकड़ा और उनका शांति भंग की धारा में चालान कर दिया। गुरुवार को पकड़े गए लोग जमानत पर छूटे और उस पक्ष के लोगों ने आरोप लगाने वालों पर हमले की योजना बना ली। शुक्रवार की सुबह करीब आठ बजे दोनों पक्षों के लोग आमने-सामने हो गए। मौके पर असलहे व धारदार हथियार का प्रयोग किया गया। फाय¨रग की घटना से गांव में अफरा-तफरी मच गई। दो समुदायों के बीच हुए ¨हसक संघर्ष में राजभर बस्ती के निवासी हृदय कुमार (32) पुत्र बाबूराम राजभर के दाहिने जांघ में गोली लगी। जबकि छोटेलाल (36) पुत्र वंशू राजभर धारदार हथियार के हमले से घायल हो गया। वहीं दूसरे पक्ष के शमीम अहमद (42) पुत्र मोहम्मद हकीम व मोहम्मद अली (18) पुत्र मोहम्मद जावेद धारदार हथियार के हमले में घायल हो गए। सांप्रदायिक संघर्ष की जानकारी पाकर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एनपी ¨सह, व सीओ लालगंज योगेंद्र कुमार सहित आसपास के थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई। पुलिस देख मारपीट पर आमादा लोग भाग खड़े हुए। घायलों को इलाज के लिए स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। चिकित्सक द्वारा रेफर कर दिए जाने पर सभी घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गोली से घायल हृदय कुमार का शल्यचिकित्सा कर जांघ में फंसी गोली निकाल दी गई है। गांव में व्याप्त तनाव को देखते हुए मौके पर पुलिस व पीएसी के जवान तैनात कर दिए गए हैं। इस घटना के बाबत घायल हृदय राजभर की मां सरसत्ती देवी की तहरीर पर बरदह थाने में चार लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। पुलिस दूसरे पक्ष के तहरीर का इंतजार कर रही है। इस घटना के बाद दोनों पक्षों के पुरुष सदस्य गांव से फरार बताए गए हैं। दोनों पक्षों के घरों में केवल महिलाएं, बच्चे व बुजुर्ग मौजूद हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप