जीयनपुर (आजमगढ़) : स्थानीय कस्बा स्थित चुनुगपार मे बाबा लद्धाशाह के मजार पर उर्स मेले मे सोमवार को भारी संख्या में श्रद्धालुओं का रेला लगा रहा। दूरदराज से आए लोग बाबा के दरबार में दर्शन कर अपनी मन्नतें मांगी। इसमें भूत-प्रेत से पीड़ित लोगों की संख्या ज्यादा दिखी। यह मेला मंगलवार को पूरी रात चलने के बाद सुबह समाप्त होगा।

सगड़ी क्षेत्र के जीयनपुर बाजार के चुनुगपार में सैकड़ों वर्ष पुरानी लद्धाशाह की मजार स्थापित है। यहां हिंदू व मुसलमान दोनों शीश नवाते हैं। 400 साल इस पुराने इस मजार पर 22 मुहर्रम को हर वर्ष मेला लगता है। अंग्रेजी वर्ष के मुताबिक मेला 26 नवंबर को मेला शबाब पर पहुंच गया। मेले में दूरदराज के हजारों लोग आते है। मन्नतें मानते हैं और चादर चढ़ाते है। मंगलवार को सुबह से ही बाबा की मजार पर चादर चढ़ाने वालों का रेला लगा तो रातभर जारी रहा। दूरदराज से दुकानें यहां लगाई गईं थी। दूरदराज के दर्शनार्थी बाबा की मजार पर आकर अपना मत्था टेक रहे थे और अपनी मन्नतें मांगते थे। बहुत से लोग मन्नतें पूरी होने पर बाबा को प्रसाद चढ़ाया। इसके बाद सेवन किया। कहा जाता है कि बाबा साहब के मजार पर आने के बाद सारी प्रेत बाधा से मुक्ति मिलती है। यहां भूत-प्रेत से पीड़ित महिलाएं अपने-आप खेलने लगती है। इसके बाद प्रेतबाधा से मुक्ति पा जाती है। मेला के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा। नगर पंचायत चेयरमैन खुरमुल्ली गुप्ता, नायर हसन, रिजवान मेहदी आदि मेले को सकुशल संपन्न कराने में लगे रहे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर