संवादसूत्र, अटसू : ग्राम सुर्खीपुर निवासी एक व्यक्ति ने पुलिस पर रिश्वत न देने पर एकतरफा कार्रवाई किए जाने का आरोप लगाया है। पीड़ित गांव की दो दर्जन महिलाओं के साथ कोतवाली पहुंचा और घेराव करते हुए जमकर हंगामा किया। उन्होंने पुलिस पर रिश्वत न देने पर फर्जी मुकदमें में फंसाए जाने का आरोप लगाया।

भदसान चौकी के ग्राम सुर्खीपुर निवासी संत कुमार पुत्र मान सिंह ने बताया कि उसका गांव के ही लाखन सिंह, कप्तान सिंह, संजू पुत्र घटाजीत, अभिलाख पुत्र लाखन सिंह व प्रिया पुत्री लाखन सिंह के साथ जमीन को लेकर हुए विवाद में 28 मार्च को आरोपितों ने उसके खिलाफ कोतवाली में घर में घुसकर गाली-गलौज कर मारपीट करने और जान से मारने की धमकी दिए जाने का मामला दर्ज करा दिया था। आरोप है कि मामला झूठा होने पर भी भदसान चौकी पुलिस उससे सही रिपोर्ट लगवाने के लिए रुपये मांग रही है। आरोप है कि भदसान चौकी इंचार्ज ने सीओ व एसओ को भी रिश्वत का पैसा दिए जाने की बात भी कही। रुपये न देने पर एकतरफा कार्रवाई करते हुए गांव में रह रहे बुजुर्ग माता-पिता का पुलिस उत्पीड़न कर रही है। महिला बाल कल्याण कानपुर से आई महिलाओं ने कोतवाल को घेरा

सुर्खीपुर गावं में हुए झगड़े में एकतरफा कार्रवाई में कोतवाली लाए गए संत कुमार के भाई व अन्य लोगों को छुड़ाने के लिए परिवार की महिलाएं कोतवाली पहुंच गईं और दूसरे पक्ष को भी कोतवाली बुलाने की मांग करने लगीं। पुलिस की ओर से महिलाओं को भी चालान कर जेल भेजे जाने की धमकी पर महिला बाल कल्याण कानपुर संचालक रेखा चंदेल के नेतृत्व में कई महिलाएं पहुंच गई। उन्होंने कोतवाली निरीक्षक से दोनों पक्षों की बात सुनकर कार्रवाई करने की बात करते हुए उनका घेराव किया। लेकिन पुलिस किसी भी बात को मानने को तैयार नहीं थी। क्या कहते हैं जिम्मेदार

फिलहाल मामले की जानकारी नहीं है। जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सुनीति, एसपी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस