जागरण संवाददाता, औरैया: विजिलेंस टीम व बिजली इंजीनियर ने शनिवार को संयुक्त रूप से बड़े बकायेदारों के खिलाफ अभियान छेड़ शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में 200 से अधिक कनेक्शन जांचे। 10 हजार से एक लाख रुपये तक के करीब आधा सैकड़ा उपभोक्ताओं के घरों की बिजली ठप कर दी गई। घरों से लाइन व बिजली के मीटर उखाड़कर सर्किल कार्यालय में जमा कराए गए हैं। वहीं कानपुर रोड पर टीम ने एक ढाबा पर छापेमारी के दौरान कटिया से बिजली आपूर्ति पायी। संचालक के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई गई है।

कटिया डालकर चोरी छिपे बिजली आपूर्ति कर रहे लोगों की शिकायत पर विजिलेंस सक्रिय है। कानपुर रोड स्थित एक ढाबा पर मारे गए छापे में कटिया डालकर आपूर्ति पायी गई। इस पर संचालक के खिलाफ कोतवाली में एफआइआर दर्ज कराई। इसके अलावा कांशीराम कालोनी में 30 बड़े बकायेदारों के कनेक्शन काटकर केबल व बिजली के मीटर उखाड़कर सर्किल कार्यालय में जमा कराए गए। गांव क्योंटरा में छह व जरुहौलिया में 14 घरों के कनेक्शन काटे गए। अधिशासी अभियंता संतोष कुमार ने बताया कि कांशीराम कालोनी में सभी उपभोक्ता एक लाख से ऊपर के बकायेदार हैं। अभियान लगातार जारी रहेगा। इस मौके पर एसडीओ आकाश श्रीवास्तव, राजेश कुमार, जेई विवेक खरे, आमोद आनंद, सुभाष चंद्र आदि मौजूद रहे।शट-डाउन लेने व ट्रिपिग से परेशान उपभोक्ता

चेकिग के दौरान कनेक्शन काटते समय अक्सर शट-डाउन ले लिया जाता है। इसकी वजह से उपभोक्ताओं को परेशान होना पड़ता है। शनिवार को भी सुबह ट्रिपिग व शट-डाउन से ब्रह्मनगर, ओमनगर आदि मोहल्लों की आपूर्ति बाधित रही। बिजली विभाग के अधिकारियों का कहना था कि चेकिग के दौरान कुछ देर के लिए छह नंबर फीडर बंद कर दिया गया था। पूर्वाह्न 11 बजे के बाद से दोपहर करीब पौने एक बजे तक बिजली ठप रही।

Edited By: Jagran