औरैया, जागरण संवाददाता। दिबियापुर के एक गांव में उस समय सनसनी फैल गई जब एक किशोरी की हत्या कर शव बाजरे के खेत में फेंक दिया गया। सोमवार की सुबह शव पड़ा देखकर ग्रामीणों में आक्रोश फैल गई। शरीर पर चोट के निशान थे और हाथ व चेहरे पर खरोंच देखकर लोगों ने दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका जताई है। गांव पहुंचे एसपी और सीओ ने घटना की पड़ताल की और ग्रामीणों से पूछताछ की। पिता ने नित्य क्रिया के लिए घर से निकली बेटी की हत्या और दरिंदगी की बात कही। 

पीड़ित पिता ने पुलिस को बताया कि 17 वर्षीय बेटी नित्य क्रिया के लिए घर से निकली थी। सुबह ग्रामीणों ने उसका शव गांव के बाहर बाजरे के खेत में पड़ा होने की जानकारी दी। इसपर वह भी ग्रामीणों के साथ पहुंच गए। ग्रामीणों की मानें तो शरीर पर चोंट के निशान और चेहरे पर खरोंच दुष्कर्म के बाद हत्या की गवाही दे रहे थे। सूचना मिलते ही पुलिस फोर्स भी गांव पहुंच गया। 

पुलिस अधीक्षक चारू निगम और क्षेत्राधिकारी सदर सुरेंद्र नाथ यादव भी घटनास्थल पर पहुंचे, जहां ग्रामीणों की भीड़ लगी थी और शव के पास बुजुर्ग पिता रो रहा था। एसपी ने पिता को उठाकर ढांढस बंधाया और पूछताछ की। फाेरेंसिक टीम ने भी साक्ष्यों को जुटाने का प्रयास किया। पूछताछ में ग्रामीणों ने दुष्कर्म बाद हत्या कर शव को बाजरा के खेत में फेंकने की आशंका जताई। घटना को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त रहा।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पूरे मामले की जांच कराई जा रही है। बिना साक्ष्य के कुछ कहना जल्दबाजी होगी। अपर पुलिस अधीक्षक शिष्यपाल का कहना है कि जल्द ही राजफाश किया जाएगा।

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट