संवाद सूत्र, रुरुगंज : कस्बे में सोमवार को पैरामिलिट्री फोर्स स्मृति दिवस पर शहीद सैनिक के घर पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें जम्मू कश्मीर से आए बीएसएफ के जवानों ने हिस्सा लिया। उन्होंने शहीद सैनिक के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी। साथ ही अपने साथी की पत्नी को रॉल आफ ऑनर दिया।

कस्बा निवासी बीएसएफ जवान कैलाश चंद्र कश्यप 13 अप्रैल 1992 को जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के सोपोर में आतंकवादियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गए थे। सोमवार को 194वीं बटालियन बीएसएफ से अजय कुमार अपने दो साथियों के साथ शहीद के घर पहुंचे। उन्होंने शहीद के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी। साथ ही शहीद साथी की पत्नी विमला देवी को पैरामिलिट्री की तरफ से दिया जाने वाला सम्मान रॉल आफ ऑनर देकर सम्मानित किया। उनके साथ रुरुगंज चौकी इंचार्ज देवेंद्र प्रसाद व महेश कुमार व अन्य पुलिस कर्मियों ने हिस्सा लिया। बटालियन के कमांडेंट ने दूरभाष पर शहीद की पत्नी से बात की। उन्होंने कहा कि वह बहादुर जवान को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए उनके परिवार को आश्वस्त कराना चाहते हैं कि पूरी पैरामिलिट्री व सरकार उनके कल्याण के लिए हमेशा तत्पर रहेगी। बिधूना कोतवाली प्रभारी राजदेव प्रजापति ने शहीद के चित्र पर पुष्प अर्पित किए। इसके बाद जम्मू कश्मीर से आए सैनिकों ने शहीद की पत्नी विमला देवी से आशीर्वाद लेकर हमेशा साथ खड़े रहने की शपथ ली। इस मौके पर शहीद का पुत्र लक्ष्मण कश्यप, अंकित यादव, गामा यादव, अवनीश यादव, मुकेश, विमला दोहरे, संजीव यादव, बड़े लल्ला आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप