संसू, अटसू: अजीतमल कोतवाली क्षेत्र के सैदपुर गांव में शुक्रवार को एक किशोरी का शव घर के कमरे में मिलने से सनसनी फैल गई। पड़ोस के गांव से लौटे स्वजन ने गेट बंद मिलने पर कमरे के रोशनदान से झांका तो वह सहम गए। शोर मचाते हुए ग्रामीणों को एकत्र किया। किसी तरह गेट खोल कमरे में दाखिल हुए। इसके बाद किशोरी को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित किया। जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

सैदपुर गांव निवासी राजा सिंह शुक्रवार को मजदूरी करने पास के गांव में गए थे। घर के अन्य लोग बाहर काम कर रहे थे। कमरे में 17 वर्षीय प्रियंका थी। जिसे स्वजन ने वापस लौटने पर फर्श पर अचेत अवस्था में देखा। इसके बाद उन्होंने 108 पर मोबाइल फोन करके एंबुलेंस बुलाई। आनन-फानन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अजीतमल पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने देखते ही किशोरी को मृत घोषित कर दिया। पूरे घटनाक्रम को देखते हुए पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा ने सीओ प्रदीप कुमार से जानकारी ली। शव का पोस्टमार्टम करने से स्वजन ने पुलिस कर्मियों को मना किया। लेकिन, पुलिस ने मामला संदिग्ध बताते हुए पोस्टमार्टम के लिए जैसे-तैसे पंचनामा भरवा। चिकित्सकों से घटना के विषय में जानकारी की तो उन्होंने बताया कि मृतका के मुंह से गंध आ रही थी।

ऐसा लगता है कि उसने कुछ पी लिया था। किसी कारण उसकी हालत बिगड़ गई होगी। प्रभारी कोतवाली निरीक्षक (अपराध) गया प्रसाद ने बताया कि संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने पर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही हकीकत पता लग सकेगी। उधर, बेटी की मौत पर पिता के साथ अन्य स्वजन का रो-रोकर हाल बेहाल रहा।

Edited By: Jagran