जासं, औरैया: कोविड कंट्रोल रूम से दूसरी डोज लगवाने के लिए लगातार लोगों से मोबाइल फोन के जरिये संपर्क किया जा रहा है। शुक्रवार को पहली डोज लगवाने वाले दो हजार से ज्यादा नागरिकों को दूसरी डोज लगवाने के लिए जागरूक किया गया। इस दौरान दो शिकायतों का त्वरित निस्तारण किया गया।

जिले में 18 साल से अधिक आयु के नागरिकों के लिए 193 केंद्र संचालित किए गए। जहां वैक्सीन लगाई गईं। वैक्सीनेशन कराने वाले नागरिकों की संख्या बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य विभाग सक्रिय दिखा। इसके अलावा किशोरों को जागरूक करने का कार्य भी किया जा रहा। 50 शैया जिला संयुक्त चिकित्सालय के अलावा अन्य केंद्रों पर यह कसरत हुई। 15 हजार 354 नागरिकों को वैक्सीन लगाई गई। टीकाकरण कराने वाले कुल लाभार्थियों की संख्या 15 लाख 73 हजार 91 जा पहुंची है। इसमें प्रथम डोज लगवाने वाले नागरिकों की संख्या नौ लाख 96 हजार 733 और दोनों डोज लगवा चुके नागरिक करीब पांच लाख 71 हजार 274 हैं। इन्हीं केंद्रों पर 5084 को प्रीकाशन डोज लगाई गई। टीकाकरण अभियान के नोडल अधिकारी डा. देव नरायन कटियार ने बताया कि दूसरी डोज से वंचित लोगों से कंट्रोल रूम के जरिये लगातार फोन पर संपर्क किया जा रहा है। चार हजार से ज्यादा किशोरों को वैक्सीन लगाई गई।

------------------

तीन स्वास्थ्य कर्मचारी समेत 40 और मिले संक्रमित

जासं, औरैया: जिले में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है। शुक्रवार को तीन स्वास्थ्य कर्मचारी समेत 40 संक्रमित मरीज मिले। 33 मरीजों ने अब तक कोरोना से जंग जीती है। इसके चलते सक्रिय मामलों की संख्या 273 है। स्वास्थ्य महकमे में सामने आ रहे मामलों ने परेशानी बढ़ी है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि शुक्रवार को 759 आरटीपीसीआर सैंपल रिपोर्ट में 40 नए संक्रमित मरीज मिले। सभी संक्रमित मरीजों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। दूसरी ओर इनसे संपर्क रखने वालों की कोविड-19 जांच के निर्देश निगरानी समिति को दिए गए हैं। संक्रमित मरीजों में गेल के कुछ कर्मचारी, विभिन्न थानों के पुलिस कर्मचारी व अन्य लोग शामिल हैं। अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. शिशिर पुरी ने बताया कि कोविड प्रोटोकाल को फालो न करने की वजह से केस बढ़ रहे हैं। 33 मरीज ठीक हुए हैं। होम आइसोलेशन में 267 मरीज हैं। वहीं अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या छह है। अब तक 462 संक्रमित मरीज मिल चुके है।

Edited By: Jagran