संवाद सूत्र, सहायल: ब्लाक के गांव भितरागांव में कराए जा रहे पंचायत भवन निर्माण कार्य को रुकवाने का विरोध करने पर कोटा डीलर ने ग्राम प्रधान व ठेकेदार से अभद्रता की। पीड़ित ग्राम प्रधान ने जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा से पूरे मामले की शिकायत की है। आरोप है कि कोटा डीलर ने शुक्रवार की देर रात भवन को लेकर खोदी गई नींव को मिट्टी से पाट दिया है। शनिवार को कार्य करने के लिए पहुंचे श्रमिकों से गाली-गलौज करते हुए उन्हें जान से मारने की धमकी देकर भगा दिया गया।

सहायल की ग्राम पंचायत भितरागांव में बीते करीब एक सप्ताह पूर्व पंचायत भवन निर्माण का कार्य शुरू कराया गया है। भितरागांव के प्रधान राम किशोर उर्फ बब्बन तिवारी ने बताया कि निर्माण कार्य का विरोध कोटा डीलर श्री कृष्ण पहले से कर रहे थे। उन्होंने पंचायत भवन की नींव को मिट्टी डालकर बंद कर टीन शेड रख दिया। जानकारी पर ग्राम प्रधान से नींव को मिट्टी डालकर बंद करने व टीन शेड के बाबत पूछा गया तो वह अभद्रता करने लगे। लेखपाल भितरागांव बाबू प्रजापति ने बताया कि कोटा डीलर द्वारा पंचायत भवन की जमीन पर अवैध कब्जा की नीयत से ऐसा किया गया। कोटेदार की हरकत के बारे में गांव के कुछ लोगों का कहना है कि पंचायत की जमीन पर कोटा डीलर का पुराना कब्जा था। पंचायत भवन निर्माण की जानकारी होने पर वह आग बबूला हो गया। फिलहाल, पूर मामले के बाबत जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा से शिकायत की गई है। इसके अलावा तहसील प्रशासन को भी अवगत कराया गया है। कोटा डीलर द्वारा पंचायत भवन पर डाली गई टीन शेड को यदि नहीं हटाया गया तो कानूनी कार्रवाई के लिए पुलिस की मदद ली जाएगी।

Edited By: Jagran