जागरण संवाददाता, औरैया: एक दूसरे को जागरूक करने की जरूरत को समझते हुए कौशल विकास मिशन से जुड़े युवाओं ने कमाल कर दिया। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रति जहां लोगों को जागरूक किया। जीवन रक्षक के प्रति लोगों की सोच बदली और ज्यादा से ज्यादा वैक्सीन की डोज पात्रों तक पहुंचाने का कार्य किया। इसके लिए घर-घर पहुंचकर लोगों के रजिस्ट्रेशन किए व केंद्रों पर लाकर टीकाकरण कराया।

उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन के तहत जनरल ड्यूटी असिस्टेंट के प्रशिक्षणार्थियों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अयाना क्षेत्र में गांव-गांव जाकर जीवन रक्षक वैक्सीन की डोज हर पात्र को लगवाने में जुटे हैं। युवाओं की टोली सैकड़ों परिवार को कोविड-19 से सुरक्षित कर चुकी है। 'मेरा टीका, मेरा अधिकार' की मुहिम के लक्ष्य को पूरा कराने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। ओसामा पुत्र सईद आलम बताते हैं कि प्रशिक्षण प्राप्त करने के साथ कोविड से लोगों की सुरक्षा करना अपना कर्तव्य समझ साथियों संग योजना तैयार की। कदम से कदम मिलाकर चलना शुरू किया। अभी तक वह 3800 लोगों को जागरूक कर वैक्सीन की डोज लगवा चुके हैं। इसी तरह से अंजली, प्रतिमा भी करीब 250-250 घरों तक मुहिम पहुंचा चुकी हैं। नागेश कुमार ने तीन सौ घरों को जागरूक कर जीवन रक्षक डोज दिलवाई। अश्वनी व अवनीश भी 150-150 लोगों को केंद्रों पर लाने में सफल हुए हैं। टीम के युवा बताते हैं कि कोरोना से घबराए लोगों को समझाना बहुत कठिन था। लेकिन हम सभी साथियों ने न हार मानी, न ही किसी से रार ठानी। जिस घर पर पहुंच गए, उस परिवार के सभी पात्रों को सुरक्षित करने में सफल हुए। अपने-अपने मोबाइल फोन से रजिस्ट्रेशन कराकर वैक्सीन का लाभ दिलाया। करीब 12 युवाओं की टोली ने सदर विकासखंड के गांव जुहीखा, अस्ता, रोशनपुर, सेंगनपुर, जसवंतपुर, सुरान, शहब्दा, जैतापुर, भैरोपुर आदि आधा सैकड़ा गांवों में मुहिम को गति दी है। उनकी यह कोशिशें जारी हैं।

Edited By: Jagran