जागरण संवाददाता, औरैया: खरीद केंद्रों पर खरीद न होने से परेशान किसानों का गुस्सा गुरुवार को फूट पड़ा। 10 दिन से केंद्रों पर गेहूं लेकर पड़ किसानों ने गुरुवार को गेहूं लदे ट्रैक्टर ट्राली को हाईवे पर आड़े-तिरछे खड़े कर जाम लगा दिया। इससे दोनों तरफ वाहनों की लंबी लाइन लग गई। हाईवे पर जाम की सूचना पर पहुंचे कोतवाली प्रभारी निरीक्षक ने किसानों को समझाने का प्रयास किया लेकिन वह नहीं माने। बाद में पहुंचे एसडीएम सदर ने किसानों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया और क्रय केंद्र प्रभारी को गेहूं खरीदे जाने के निर्देश दिए।

गेहूं की उठान न होने से क्रय केंद्रों से करीब 10 दिन से गेहूं की खरीद बंद कर दी है, या बहुत थोड़ी मात्रा में खरीद कर रहे हैं। इससे किसान कई दिनों ने ट्रैक्टर में गेहूं रखकर केंद्रों पर पड़े हैं। इसको लेकर बुधवार को किसानों प्रदर्शन किया था। गुरुवार सुबह आधा सैकड़ा किसानों ने मंडी गेट के बाहर हाईवे पर गेहूं से भरे ट्रैक्टर ट्राली खड़े करके जाम लगा दिया और जमकर नारेबाजी की। किसानों ने कहा कि गेहूं खरीद का मात्र अब एक दिन शेष रह गया है और क्रय केंद्र पर गेहूं नहीं खरीदा जा रहा है। मौके पर पहुंचे कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मदन गोपाल गुप्ता ने समझाने का प्रयास किया लेकिन मामला बढ़ता देख एसडीएम सदर अमित श्रीवास्तव को मामले की जानकारी दी। एसडीएम ने पहुंच कर किसानों से बात की उन्होंने क्रय केंद्र प्रभारी सुनील कुमार को निर्देश दिए कि वह किसानों का गेहूं खरीदें और गेहूं को सुरक्षित स्थान पर रखवाएं। इसके बाद किसान शांत हुए।

मजबूरी में प्राइवेट केंद्र पर बेंचे गेहूं

गेहूं क्रय केंद्र पर इन दिनों किसानों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। किसान राजापाल, बलवीर ¨सह, पुत्तनलाल व राजाबाबू ने बताया कि वह दस दिनों से मंडी समिति में गेहूं बेंचने के लिए खड़े हुए हैं। लेकिन अभी तक उनका गेहूं नहीं खरीदा गया है। उन्होंने बताया कि जब उनका गेहूं नहीं खरीदा गया तो मजबूरी में उन्होंने अपना गेहूं प्राइवेट केंद्र पर बेंचा है।

पुलिस ने किसानों को हिरासत में लिया

गुरुवार सुबह गेहूं न खरीदे जाने से आक्रोशित किसानों ने जाम लगाया तो पुलिस ने एक किसान को हिरासत में ले लिया। करीब दो घंटे बाद पुलिस ने उसे घर भेज दिया।

Posted By: Jagran