औरैया, जागरण संवाददाता। बाबरपुर कस्बे के गेस्ट हाउस में आयोजित शादी समारोह के बीच उस समय अफरा तफरी मच गई, जब फेरों के लिए मंडप में बैठे दूल्हे को उठा ले जाकर पुलिस ने हवालात में डाल दिया। पुलिस की इस तरह की कार्रवाई को लेकर नाराजगी जता रहे जनाती-बराती और दुल्हन तब सन्न रह गए जब दूल्हे की असलियत सामने आ गई। इसके बाद एक-एक करके बराती और रिश्तेदार धीरे-धीरे निकलने लगे तो जनातियों में दुल्हन का जीवन बर्बाद होने से बचने की चर्चाएं होती रही।

इटावा से आई थी बरात

अयाना क्षेत्र के एक गांव में रहने वाले किसान ने अपनी बेटी की शादी इटावा के सिविल लाइन में रहने वाले युवक से तय की थी। कन्या पक्ष ने बाबरपुर कस्बे के गेस्ट हाउस में शादी की तैयारियां की थीं और रविवार शाम दूल्हा बरात लेकर पहुंचा था। द्वारचार और अगवानी के बाद शादी की रस्मे पूरी करने के लिए दूल्हा मंडप में बैठा था। पंडित जी फेरों की तैयारी कर रहे थे और दुल्हन भी भविष्य के सुनहरे सपनों का ताना बाना बुन रही थी। इस बीच अचानक पंडाल में पुलिस पहुंच गई तो कानाफूसी शुरू हो गई। पुलिस ने दूल्हे का नाम पूछा और उसे थाने ले जाने का प्रयास करने लगी। इसपर जनातियों और बरातियों ने विरोध किया। 

अनजान युवती ने बताई सच्चाई तो उड़े होश

जब पुलिस के साथ आई युवती ने सच्चाई बतायी तो दुल्हन समेत जनातियों और बरातियों के होश उड़ गए। युवती ने हंगामा करते हुए कहा कि दूल्हा उसका प्रेमी है। उसने कई वर्षों से शादी का झांसा देकर उससे शारीरिक संबंध बनाता आ रहा है। अब वो किसी दूसरी युवती से शादी करने उसे धोखा दे रहा है। उसकी बातें सुनकर शादी समारोह में मौजूद लोग सन्न रह गए। पुलिस ने विरोध कर रहे वर और कन्या पक्ष के लोगों को समझाया और दूल्हे को हिरासत में थाने ले जाकर हवालात में डाल दिया।

शादी समारोह से धीरे धीरे खिसक गए बराती

दूल्हे के हवालात पहुंचने के बाद शादी समारोह से बराती धीरे धीरे खिसकने लगे और पंडित जी भी चले गए। कन्या पक्ष में आए रिश्तेदार भी गेस्ट हाउस से चले गए। रिश्तेदारों के बीच दूल्हे के कृत्यों की चर्चा होती रही। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रजनीश कटियार ने बताया कि पीड़ित युवती की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू की गई है। आरोपित दूल्हे से पूछताछ की जा रही है। 

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट