जागरण संवाददाता, औरैया : अजीतमल तहसील क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम मुड़ैना रूपशाह में महात्मा गांधी खाद्य प्रसंस्करण शिविर आयोजित किया गया। इसमें खाद्य उत्पादों के संबंध में दो दर्जन से अधिक लोगों को जानकारी व प्रशिक्षण दिया गया।

शिविर में बताया गया कि ग्रामीण क्षेत्रों में इस तरह के आयोजनों से बेरोजगारी की समस्या दूर हो सकती है। प्रशिक्षण से युवाओं को बेहतर अवसर मिलेंगे। केंद्र प्रभारी राजीव शुक्ल ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में खाद्य प्रसंस्करण की असीम संभावनाओं को देखते हुए जागरुकता शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। भाग लेने वाले 30 प्रशिक्षणार्थी में इच्छुक लाभार्थी को एक माह का प्रशिक्षण देकर लघु उद्योग लगवाए जाएंगे। यदि वह अपनी यूनिट स्थापित करता है तो विभाग मशीनरी क्रय करने के लिए 50 फीसद अधिकतम एक लाख रुपये का अनुदान देगा। बेरोजगारी की समस्या दूर करने, किसान को अपनी फसल का उचित मूल्य दिलाने के लिए यह कार्यक्रम चलाया जा रहा है। यह प्रशिक्षण तीन दिन तक चलेगा। जिसमें विभिन्न विषयों पर प्रशिक्षक विस्तृत जानकारी देंगे। प्रशिक्षणार्थियों को सेव का जैम बनाकर दिखाया गया। ओंकारनाथ त्रिवेदी, पंथ नारायण पांडेय ने खाद्य प्रसंस्करण विषय पर विस्तृत चर्चा की। इस मौके पर अशोक अवस्थी, धर्मेंद्र सहित कई लोग मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप