जागरण संवाददाता, औरैया: कोरोना से बचाव के लिए जागरूकता जरूरी है। इसके अलावा वैक्सीन की दोनों डोज को लगाने से संक्रमण का खतरा कम होता है। इस बात को समझाते हुए लोगों को टीके

की जरूरत बताई जा रही। स्वास्थ्य विभाग की यह पहल धीरे-धीरे रंग भी ला रही है। गुरुवार को 114 केंद्रों पर वैक्सीनेशन का कार्य किया गया। वहीं 'मेरा टीका, मेरा अधिकार' को और गति देने की जुगत में जुटी टीमें ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में शिविर लगाकर नागरिकों को जागरूक कर रही हैं।

जिले के गुरुवार को 50 व सौ शैय्या जिला अस्पताल सहित 114 केंद्रों पर कोरोन से बचाव के टीके लगाए गए। शहर के मुकाबले ग्रामीण क्षेत्रों में केंद्र ज्यादा बनाए गए हैं। 18 वर्ष से ऊपर के लोगों ने अपने नजदीकी केंद्रों पर पहुंचकर पहली व दूसरी डोज लगवाई। शाम तक 5106 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। नोडल अधिकारी डा. देव नारायण सिंह ने बताया कि वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर केंद्र निर्धारित किए जा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को दिक्कत न हो, इसलिए ज्यादा केंद्र बनाए जा रहे हैं। लोगों में वैक्सीन लगवाने का उत्साह देखने को मिल रहा है। इसके तहत 'मेरा टीका, मेरा अधिकार' को गति मिल रही है। लक्ष्य के सापेक्ष वैक्सीनेशन (टीकाकरण) का कार्य किया जा रहा है।

Edited By: Jagran