जागरण संवाददाता, औरैया : तेज बारिश के कारण शुक्रवार को राष्ट्रीय राजमार्ग-19 पर अनंतराम गांव के सामने फ्लाईओवर की सर्विस रोड पर रेनफोर्स अर्थ वाल के पैनल निकल गए थे। फ्लाईओवर पर इटावा-कानपुर की लेन पर खतरे की आशंका जता वाहनों को सर्विस रोड की ओर डायवर्ट कर दिया गया। शनिवार को कानपुर आइआइटी के विशेषज्ञों ने तकनीकी बिदुओं पर पड़ताल करते हुए कुछ सैंपल लिए। लेन को फिलहाल बंद रखने का निर्देश दिया। ऐसे में इटावा से कानपुर आने वाले वाहनों का सफर मुश्किल भरा हो गया है। रविवार को बारिश के दौरान यह समस्या और बढ़ी।

जिले में बीते एक सप्ताह से बारिश हो रही है। अनंतराम गांव के पास फ्लाईओवर की साइड में लगी रेनफोर्स अर्थ वाल (आरईडब्ल्यू) के 10 टुकड़े बारिश में शुक्रवार सुबह निकल गए थे। उसके आसपास की वाल भी क्षतिग्रस्त हो गई। वाल गिरने की वजह को तलाशने की कवायद भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) के साथ आइआइटी के विशेषज्ञों ने की। आरईडब्ल्यू के निकलने से फ्लाईओवर की इटावा-कानपुर लेन पर खतरा बढ़ा है। हादसे से बचने के लिए इस लेन को फिलहाल बंद कर दिया गया है। सर्विस रोड पर पड़े मलबे को समेटने का कार्य किया जा रहा है। सर्विस रोड से इटावा से कानपुर आने वाले वाहन निकाले जा रहे हैं। करीब एक किमी लंबे बने इस फ्लाईओवर पर सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है ताकि कोई वाहन बंद लेन से न निकले। 15 दिन तक सर्विस रोड से वाहन निकाले जाएंगे। कानपुर-इटावा लेन से वाहन निकलते रहेंगे। रविवार को बारिश के दौरान वाहन सवारों की दुश्वारियां बढ़ी। उधर, इस हादसे के बाद एनएचएआइ के अधिकारियों ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर आरईडब्ल्यू पैनल को लेकर सतर्कता बढ़ा दी है।

Edited By: Jagran