संवाद सहयोगी, अजीतमल : एसडीएम व राष्ट्रीय सचल दल चिकित्सा टीम की गाड़ियां कई रास्ते बदल कर ग्राम असेवटा पहुंची। गांव का निरीक्षण करने के बाद उपजिलाधिकारी राशिद अली खान ने पीड़ितों को सांत्वना दी।

गांव के पीड़ित राजकुमार, राजेश सिंह, सुरेश केवट, हरिश्चंद्र रामचंद्र ने घरों की बदहाल स्थिति से एसडीएम को रूबरू कराया। खाली घर व मकान की चटकी दीवारें दिखाईं। एसडीएम ने उन्हें अभी घरों में रहने से मना किया। राष्ट्रीय सचल दल चिकित्सक टीम के सदस्य अनुप्रिया, रवींद्र कुमार, अनीता सिंह व कवींद्र ने गांव में घूम घूमकर लोगों को इलाज कर दवाइयां वितरित कीं। बाद में एक जगह बैठकर कैंप लगाकर लोगों का चेकअप किया। टीम की व्यवस्था व दवा वितरण का एसडीएम ने निरीक्षण किया। उन्होंने गांव में लोगों को एकत्र कर पीड़ितों की मदद के बारे में प्रशासन की तैयारियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बर्बाद फसल देख हुआ बीमार, सैफई रैफर

अजीतमल: ग्राम असेवटा निवासी विनय पुत्र हाकिम सिंह बाढ़ की भयावहता व बर्बाद फसल देखकर सदमा बर्दाश्त नहीं कर सका। वह अपने घर पर जमा गंदगी व नष्ट गृहस्थी को निहार रहा था कि अचानक वह गिर पड़ा। परिजन उसे सीएचसी लाए। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद सैफई रेफर कर दिया। परिजनों ने बताया कि वह काफी देर से हाय विधाता अब क्या होगा की रट लगाए था। सब कुछ बर्बाद हो गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस