जागरण संवाददाता, औरैया: फेसबुक पर विकास दुबे नाम से फर्जी अकाउंड बनाकर आइजी कानपुर रेंज मोहित अग्रवाल को जान से मारने की धमकी देने वाले एक और आरोपित को पुलिस

ने गिरफ्तार किया है। इससे पहले एक आरोपित की गिरफ्तारी की जा चुकी है। पूरे प्रकरण की जांच पुलिस कर रही थी। मिले साक्ष्यों के दम पर गुरुवार सुबह दूसरे आरोपित को आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से पकड़ा गया है। साइड पर उसकी आइडी विकास दुबे के नाम से बनी हुई है। मामले को संज्ञान में लेते हुए एसपी अपर्णा गौतम ने अछल्दा थाना निरीक्षक को मुकदमा दर्ज कर जांच किए जाने के आदेश दिए हैं। चार जुलाई को फेसबुक पर आइजी कानपुर रेंज मोहित अग्रवाल को जान से मारने की धमकी का एक पोस्ट वायरल हुआ था। विकास दुबे नाम की आइडी से अभद्र भाषा व आइजी के खिलाफ धमकी भरा मैसेज था। इसमें आइजी को मारने वाले व्यक्ति को पांच लाख रुपये इनाम दिए जाने की पोस्ट भी आरोपित द्वारा लिखी गई है। इसे पोस्ट करने वाले युवक ने खाकी से परेशान हो रहे व्यक्तियों को असलहा भी दिए जाने की बात कही थी। साथ ही पोस्ट में लिखा था कि एक विकास दुबे को मारने के बाद कई विकास दुबे पैदा होंगे। इंटरनेट मीडिया पर वायरल पोस्ट ने पुलिस महकमे में खलबली मचा दी थी। वायरल पोस्ट की पड़ताल में जुटी पुलिस ने सचिन वर्मा पुत्र सत्यपाल वर्मा निवासी मालवीय नगर कस्बा थाना सिकंदरा जनपद कानपुर देहात स्थायी पता मठिया चौराहा इटावा रोड थाना बेवर जनपद मैनपुरी को गिरफ्तार कर कोर्ट से जेल भेजा था। इस प्रकरण की जांच को जारी रखते हुए पुलिस ने आरोपित द्वारा बताए गए साथियों की तलाश में जुटी थी। गुरुवार सुबह अछल्दा थाना निरीक्षक तारिक खान के नेतृत्व में वरिष्ठ उपनिरीक्षक भागीरथ सिंह ने चेकिग के दौरान शिवम वर्मा पुत्र राजवीर सिंह निवासी कस्बा थाना बेबर जनपद मैनपुरी को थाना एरवाकटरा स्थित आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के पास एक पुल के नीचे से घेरेबंदी कर गिरफ्तार किया। थाना निरीक्षक तारिक खान ने बताया कि आरोपित के कब्जे एक मोबाइल फोन बरामद हुआ है। उन्होंने बताया कि पकड़ा गए आरोपित ने फर्जी फेसबुक पर फर्जी आइडी बनाकर विकास दुबे के नाम से आपत्तिजनक व धमकी भरे पोस्ट वायरल किया था। विवेचना के दौरान उसका नाम प्रकाश में आया था।

Edited By: Jagran