जागरण संवाददाता, औरैया: शासन के निर्देश पर सवा माह में जिला प्रशासन ने पराली जलाने के मामले में 328 किसानों को नोटिस, 67 के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर सात लाख सात हजार 500 रुपये का जुर्माना अधिरोपित किया गया है। जिसमें एक लाख 25 हजार रुपये की वसूली की जा चुकी है। पराली जलाने में नाकाम रहने वाले 32 लेखपाल, 11 पुलिस चौकी, 17 प्राविधिक सहायकों को प्रतिकूल प्रविष्टि दी गई है। एक लेखपाल को भी निलंबित किया गया है। एसडीएम बिधूना पर पांच हजार का अर्थदंड लगाया गया है।

मंगलवार को अपर जिलाधिकारी रेखा एस चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि जिले में पराली जलाने की घटनाओं पर सख्ती बरतने से अब अंकुश लगा है। सबसे ज्यादा एफआईआर बिधूना में 18 व औरैया तहसील में 7 किसानों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई है। पराली जलाने में नाकाम रहने वाले 32 लेखपाल, 11पुलिस चौकी प्रभारी, कृषि विभाग के 17 प्राविधिक सहायकों को प्रतिकूल प्रविष्टि दी जा चुकी है। इस मामले में एसडीएम बिधूना को चेतावनी के साथ पांच हजार का जुर्माना लगाया जा चुका है। 14 गांवों में पराली जलाने में नाकाम रहने पर 70 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। जिसमें ग्राम प्रधान पर एक हजार, चौकी प्रभारी, पंचायत सचिव, कानूनगो व कृषि विभाग के प्राविधिक सहायक पर आठ -आठ रुपये का जुर्माना लगाया जा चुका है। बताया कि पराली को अब गोशालाओं में भेजा जाएगा। इस मौके पर एसडीएम अनुपम शुक्ला भी मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021