जागरण संवाददाता, गजरौला : परिषदीय स्कूलों की अर्धवार्षिक परीक्षा के पहले ही दिन साढ़े तीन हजार से अधिक बच्चे परीक्षा से गैर हाजिर रहे। खंड शिक्षा अधिकारी ने कई स्कूलों का निरीक्षण भी किया।

सोमवार को दो पाली में संस्कृत का पेपर था। ब्लाक के 188 परिषदीय स्कूलों में 17 हजार 411 बच्चों में से परीक्षा के पहले दिन 13 हजार 800 बच्चे उपस्थित रहे। बाकी तीन हजार छह सौ 11 बच्चे गैरहाजिर रहे। कई स्कूलों में परीक्षाओं के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति ही की गई। जो टाइम परीक्षा का था। उस समय बच्चे खेलकूद में मस्त रहे। परीक्षा के पहले दिन साढ़े तीन हजार से अधिक बच्चे गायब रहने से शिक्षा विभाग के अधिकारी व शिक्षकों पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। खास बात है कि परीक्षाओं की तिथि कई दिन पहले ही घोषित हो गई थी। उसके बाद भी किसी भी शिक्षक व अधिकारी ने बच्चों को तलाशने या परीक्षाओं में बैठने के लिए कोई जहमत नहीं जुटाई। पहले ही दिन इतनी संख्या में बच्चे गायब रहे। एबीआरसी रणवीर सिंह ने बताया कि करीब साढ़े तीन हजार से अधिक बच्चें गैरहाजिर रहे हैं। सभी शिक्षकों को निर्देशित किया गया है कि वह बच्चों के घर-घर जाकर उन्हें परीक्षाओं में बैठाए। ताकि उनकी परीक्षा न छूटे। प्रथम पाली में 256 बच्चों ने दी परीक्षा

हसनपुर: परिषदीय विद्यालयों में अर्धवार्षिक परिक्षाएं शुरू हो गई हैं। मंगलवार को विकास खंड गंगेश्वरी के इंगलिश मीडियम प्राथमिक विद्यालय गुलामपुर में 256 छात्र छात्राओं ने परीक्षा दी। विद्यालय के प्रधानाध्यापक रामवीर सिंह ने बताया कि प्रथम पाली में संस्कृत विषय का पेपर था। पेपर सरल होने पर छात्र छात्राओं ने शांतिपूर्वक ढंग से पेपर दिया। परीक्षा मनीष कुमार, अमित कुमार, अजय सागर, योगेश कुमार, संतराम व राशिद अली के सहयोग से संपन्न हुई। बैंक में कैश न होने से ग्राहक परेशान

हसनपुर: प्रथमा ग्रामीण बैंक की देहरा शाखा में सोमवार से कैश न होने के कारण सोमवार व मंगलवार को ग्राहक परेशान रहे। सोमवार को कैश न मिलने पर बैंक अधिकारियों ने ग्राहकों को मंगलवार को बुलाया था। मंगलवार को भी दोपहर तक कैश न मिलने पर ग्राहक भड़क गए। भारतीय किसान संघ के जिलाध्यक्ष कृष्ण कुमार शर्मा का कहना है कि बैंक शाखा में दो दिन से कैश न होने से किसान परेशान हैं। चीनी मिल से गन्ने का पैमेंट बैंक में आने से किसान अपना पैसा निकालने के लिए बेताब हैं। उन्होंने कैश न मिलने की शिकायत बैंक अधिकारियों से करके समस्या के समाधान की मांग की है। शाखा प्रबंधक ने कैश के लिए डिमांड भेजने की बात कही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप