मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जोया : हत्या के मामले में फैसला करने का दबाव बनाने के लिए आरोपितों के परिजनों ने मृतक के माता-पिता को धमकी दी है। आरोप है रास्ता रोक कर मारपीट की तथा फैसला न करने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी। पीड़ित दंपती ने आरोपितों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है।

कोतवाली डिडौली क्षेत्र के गांव पांयती कलां मे रशीद अहमद का परिवार रहता है। तीन नवंबर को पड़ोसी करीमउल्ला के बेटों ने उनके बेटे आशकार की गोली मारकर हत्या कर दी। आरोपित जेल चले गए थे तथा बाद में जमानत पर आ गए।

आरोप है कि हत्यारोपितों के परिजन रशीद अहमद के परिवार पर फैसले का दबाव बना रहे हैं। शनिवार दोपहर बाद रशीद अहमद, पत्नी के साथ बेटी के घर जा रहे थे। साइकिल सवार दंपती दीपपुर-बुढ़नपुर मार्ग पर थे। आरोप है कि रास्ते में गांव के ही इसरार, शाहरूख, बाबू व एक अज्ञात व्यक्ति ने उन्हें घेर लिया तथा हत्या के मामले में फैसला करने का दबाव बनाया। दंपती ने फैसला करने से मना कर दिया। इस पर दोनों के साथ मारपीट की।

दंपती का कहना है कि हमलावर फैसला न करने पर अंजाम भुगतने की धमकी दे गए। पीड़ित दंपती ने आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप