अमरोहा: गांव ढियोटी में हुई कावेंद्र की हत्या के मामले में नामजद किए गए मोहित के पक्ष में मृतक के चाचा व अन्य स्वजन उतर आए हैं। उन्होंने थाना पुलिस पर मोहित को गलत तरीके से मुकदमे में फंसाने का आरोप लगाया है। उन्होंने बुधवार को पुलिस अधीक्षक को पत्र देकर मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है।

काबिलेगौर है कि 12 सितंबर की रात को बछरायूं थाना क्षेत्र के गांव ढियोटी में कावेंद्र सिंह की हत्या कर दी गई। शव सुबह को चारपाई पर पड़ा मिला था। गले में रस्सी का फंदा था। पत्नी स्वाति का कहना था कि कावेंद्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है परंतु पुलिस की तफ्तीश में मामला खुलकर सामने आया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कावेंद्र को नींद की गोली देकर गला घोटने की पुष्टि हुई थी। इस पर पुलिस ने पत्नी स्वाति व उसके कथित प्रेमी मोहित निवासी गांव मिर्जापुर थाना नौगावां सादात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली थी। आरोपित पत्नी को गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया था।

अब मृतक कावेंद्र के चाचा जगजीवन राम व गांव के अन्य लोग बुधवार को एसपी दफ्तर पहुंचे तथा एसपी पूनम को पत्र सौंपा। उनका कहना था कि थाना पुलिस ने मोहित को इस मामले में गलत तरीके से फंसाया है। उसका घटना से कोई लेनादेना नहीं है। बल्कि स्वाति के साथ उसके मायके वाले हत्या में शामिल थे। घटना वाली रात को गांव के लोगों ने उन्हें घर से निकलते देखा था। ग्रामीणों ने एसपी से इस मामले में निष्पक्ष जांच कराने तथा मोहित को बरी कराने की मांग की है।

ज्ञापन देने वालों में जगजीवन राम, जीतेश कुमार, जिपं सदस्य जितेंद्र कुमार, कुंवर सिंह, मुरली सिंह, विक्रम सिंह, हरिराज सिंह, रामकिशन सिंह, हरवती, सतवीरो, सूखी देवी, जगरोशनी, रमा आदि शामिल थे।

Edited By: Jagran