अमरोहा : वाकई में पश्चिमी यूपी महफूज नहीं थी। आतंकी परवेज और उसका साथी जमशेद दिल्ली में गिरफ्तार न हुए होते तो कभी भी अनहोनी हो सकती थी। परवेज वेस्ट यूपी को दहलाने की मंशा मन में पाले हुए था। वह यहां से पढ़ाई कर इसकी बुनियाद रख रहा था। नेटवर्क मजबूत करने के लिए परवेज स्थानीय लोगों के गहरे संबंध बनाने में जुटा था। उसने दिल्ली में खुफिया एजेंसियों से पूछताछ के दौरान यह राजफाश किया है। अभी परवेज और जमशेद से दिल्ली में पूछताछ जारी है। इस खुलासे के बाद माना जा रहा है कि आतंकी गतिविधियों को लेकर वेस्ट यूपी महफूज नहीं है। आतंकियों का नेटवर्क तोड़ने में एजेंसियां जुट गई हैं। एजेंसियां आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन से भी उसका कनेक्शन पता लगाने में जुटी हैं।

सात सितंबर को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा पकड़े गए कश्मीरी आतंकी परवेज व जमशेद को पांच दिन के रिमांड पर लिया गया था। इस दौरान दिल्ली पुलिस व खुफिया एजेंसियों ने अमरोहा के बारे में पूछताछ की। दोनों से पांच दिन तक चली पूछताछ के अंतिम दिन मंगलवार शाम को परवेज ने अपनी मंशा का खुलासा किया। खुफिया विभाग के सूत्रों के मुताबिक परवेज वह मुरादाबाद मंडल में अपना नेटवर्क तैयार करने में लगा हुआ था। इसके लिए वर्ष 2016 में पढ़ाई पूरी करने के बाद भी उसका अमरोहा आना-जाना लगा था। यहां स्थानीय लोगों से घुलना-मिलना तथा मुरादाबाद मंडल ही नहीं बल्कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शहरों में घूमना उसकी प्राथमिकता में रहता था। ताकि वेस्ट यूपी की भौगोलिक स्थिति की जानकारी कर सके। एक अधिकारी ने बताया परवेज अपने साथी जमशेद को भी क्षेत्र से वाकिफ कराना चाहता था। यहां पर आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देना उसका मकसद था ताकि यहां दहशत फैलाई जा सके। अब एजेंसियां परवेज का हिजबुल मुजाहिदीन से कनेक्शन का पता लगाने के साथ ही अमरोहा की गतिविधियों की गहराई से पड़ताल में जुट गई हैं।

---------

परवेज का भाई था हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी

जम्मू कश्मीर के गनोपुरा, शोपियां का रहने वाला आतंकी परवेज इस्लामिक स्टेट जम्मू कश्मीर का सक्रिय सदस्य रहा है। उसका भाई फिरदौस राशिद लोन उर्फ अबु उमर आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी था। तीन लाख रुपये का इनामी फिरदौस इसी साल जनवरी में मुठभेड़ में मारा गया।

--------

अभी कई बिंदुओं पर होगी पूछताछ

जिन ¨बदुओं पर अभी परवेज से और पूछताछ होगी उनमें उसके द्वारा यहां सिम कार्ड खरीदना, मुरादाबाद, अमरोहा, रामपुर, सम्भल व बिजनौर में लोगों से उसके करीबी रिश्ते भी शामिल हैं। क्योंकि खुद परवेज ने जिले के सात लोगों से अपने गहरे संबंध बताए हैं।

Posted By: Jagran