लापरवाही ने बुझा दिया सेवानिवृत्त आरपीएफ इंस्पेक्टर के घर का चिराग

जेएनएन, अमरोहा : औद्योगिक नगरी में राष्ट्रीय राजमार्ग पर लापरवाही से बाइक चलाना आरपीएफ के सेवानिवृत्त कर्मी के इकलौते पुत्र को महंगा पड़ गया। बाइक अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा गई। हादसे में उसकी मौके पर ही मौत हो गई। अगर हेलमेट लगाया होता तो शायद जान बच जाती। मामले की जानकारी मिलने पर स्वजन भी पहुंच गए। बताते हैं कि उत्तराखंड के जिला नैनीताल के थाना आनंदपुरा क्षेत्र में बल्युटिया चांदनी चौक निवासी बसे सिंह रावत आरपीएफ के सेवानिवृत्त इंस्पेक्टर हैं। उनका 30 वर्षीय दीपक रावत इकलौता पुत्र था। वह दिल्ली में किसी निजी कंपनी में काम करता था। बताते हैं कि वह दिल्ली से घर आ रहा था और बाइक पर बिना हेलमेट लगाए ही सफर कर रहा था। गजरौला में ख्यालीपुर ढाल के पास वह डिवाइडर से टकरा गया। टक्कर इतना जबरदस्त थी कि बाइक पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई और दीपक की मौके पर ही मौत हो गई। प्रभारी निरीक्षक राजेश तिवारी ने बताया कि डिवाइडर से बाइक टकराने पर युवक की मौत हुई है।

Edited By: Jagran