अमरोहा (जेएनएन)। विश्व के दिग्गज बल्लेबाजों को अपनी कहर बरपाती गेंदबाजी से पस्त कर देने वाले अमरोहा के मुहम्मद शमी के क्रिकेट कॅरियर पर उनकी पत्नी हसीन जहां की यॉर्कर भारी पड़ रही है। पत्नी से विवाद के मामले में फंसे शमी को अब कुछ सूझ नहीं रहा है। कोलकाता में उनके खिलाफ मामला दर्ज हो गया है जबकि बीसीसीआई भी अब उनके मामले में साथ नहीं है।

पीतल नगरी के नाम से पहचान बनाने वाले मुरादाबाद ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मंडल का नाम गौरवान्वित करने वाले क्रिकेटर भी दिए हैं। पीयूष चावला के बाद मुहम्मद शमी ने अपने फन का लोहा मनवाया है। हाल ही में जूनियर क्रिकेट विश्व कप में शिवा सिंह व आर्यन जुयाल ने भी शानदार प्रदर्शन किया। ऐसे में अपने चहेते क्रिकेटर शमी को संकट से गुजरता देख हर शख्स दुखी है। सभी चाह रहे हैं कि रफ्तार का सौदागर मैदान पर जल्द से जल्द जलवा दिखाए, लेकिन शमी के करियर पर हसीन की यार्कर भारी पड़ रही है। शमी मंडल के ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने सबसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। 2013 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पर्दापण करने वाले शमी अब तक 30 टेस्ट व 50 एकदिवसीय मैच खेल चुके हैं।

पत्नी विवाद से करियर पर संकट के बादल

क्रिकेटर मोहम्मद शमी पर उनकी पत्नी हसीन जहां एक के बाद एक संगीन आरोप लगा रही हैं। इन दोनों के बीच विवाद कम होने की जगह बढ़ता ही जा रहा है। इस विवाद के सामने आने के बाद शमी को काफी नुकसान हो चुका है। बीसीसीआइ ने उनके अनुबंध को होल्ड पर डाल दिया है, तो वहीं उनके आइपीएल में खेलने पर भी अभी तक सस्पेंस बना हुआ है।

पिछले पांच वर्ष के अपने करियर में शमी इस समय संकट से गुजर रहे है। पत्नी हसीन जहां के उन पर लगाए गए गंभीर आरोपों से उनके करियर पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। क्रिकेट प्रेमी ही नहीं पूरा देश उनके लिए दुआएं कर रहा है। हर किसी को पूरा विश्वास है कि यह प्रकरण जल्द समाप्त होगा।

पत्नी हसीन जहां के साथ शुरू हुए क्रिकेटर मुहम्मद शमी के विवाद का अंत जानने को उनके प्रशंसक बेकरार हैं। वह कोलकाता में चल रहे सुलह के प्रयासों के बारे में किसी भी तरह की सूचना का इंतजार करते रहे। देर शाम तक कोलकाता से शमी प्रकरण में किसी तरह के समझौते के संकेत नहीं मिल सके। इससे प्रशंसकों में बेचैनी भी है। उनकी मां के भी रिश्तेदारी में चले जाने से शमी के घर पर सन्नाटा पसरा रहा। वहीं गांव के लोग जल्द ही इस विवाद के सुलझने के कयास लगाते नजर आए।

अपनी पत्नी से हुए विवाद के बाद क्रिकेटर मुहम्मद शमी के गांव सहसपुर अलीनगर के घर पर कल भी सन्नाटा पसरा रहा। उधर से गुजरने वाला हर व्यक्ति उनके घर को गौर से निहारता है। हर किसी को इस बात का इंतजार है कि शमी के साथ पत्नी हसीन जहां का विवाद खत्म हो जिससे कि वह दोबारा भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल होकर दूसरी टीमों के बल्लेबाजों के छक्के छुड़ा सकें।

उम्मीद जताई जा रही थी कि कल रात को दोनों पक्षों में वार्ता होगी। इसमें सुलह होने के कयास भी लगाए जा रहे हैं। इसके चलते शमी के गांव से लेकर जिलेभर के प्रशंसक देर रात तक टीवी और अन्य माध्यमों के जरिये इस विवाद का अंत जानने की जिज्ञासा में आतुर नजर आए। गांव में शमी के पड़ोसी मुहम्मद मुजस्सिम का कहना है कि जो भी हुआ गलत हुआ। पति-पत्नी के बीच के विवाद घर के अंदर ही निपटने चाहिए। उम्मीद है कि जल्द ही विवाद सुलझ जाएगा। शमी के चाचा मशरूर अहमद ने कहा शमी बेवफा नहीं है। उसने तो हाईवे पर गांव बुढऩपुर के पास पत्नी के नाम पर ही फार्म हाउस खरीदा था। किसी मुद्दे पर अगर थोड़ा बहुत मनमुटाव था तो आपस में बैठकर ही समाप्त कर लेना चाहिए था। फिर भी बात नहीं बन रही थी तो घर के बुजुर्गों से बात करनी चाहिए थी। इसी गांव के बुजुर्ग मतीन अहमद कहते हैं कि इस घटना ने शमी का तोड़कर रख दिया है। हसीन जहां का भी स्वभाव अच्छा है और वह भी समझदार है। उम्मीद है कि जल्द ही पूरा विवाद निपट जाएगा। शमी के अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत जनवरी 2013 में पाकिस्तान के खिलाफ एक दिनी मैच से हुई थी। नवंबर 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ पहला टेस्ट मैच खेला था। टी-20 मैच का आगाज पाकिस्तान के खिलाफ हुआ।

हसीन ने की एक टॉफी बेचने वाले से शादी

मोहम्मद शमी की बेगम बनने से पहले हसीन जहां ने 2002 में एक परचून की दुकान चलाने वाले शख्स से शादी कर ली थी। खास बात ये है कि हसीन की पहली शादी लव मैरिज थी। उन्हें दसवीं कक्षा में पढ़ते हुए शेख सैफुद्दीन से प्यार हो गया था। कुछ समय के बाद शेख सैफुद्दीन ने हसीन जहां को प्रपोज किया और दोनों ने 2002 में शादी कर ली।

8 साल चला हसीन का पहला निकाह

2002 में हसीन ने शेख सैफुद्दीन से शादी तो कर ली, लेकिन इन दोनों का निकाह बहुल लंबा नहीं चल सका। 8 साल के बाद ही इन दोनों की नज़दीकियां-दूरियों में बदल गई और 2010 में दोनों का तलाक हो गया। हसीन के पहले पति सैफुद्दीन और सैफुद्दीन की दो बेटियां भी हैं। बड़ी बेटी दसवीं और छोटी बेटी छठी कक्षा में पढ़ती हैं। सैफुद्दीन का कहना है कि हसीन हफ्ते में दो-तीन बार फोन कर अपनी दोनों बेटियों से बात कर लेती हैं लेकिन सैफुद्दीन का हसीन के कोई ताल्लुकात नहीं है।

क्या ये थी हसीन के तलाक की वजह

हसीन के पहले पति सैफुद्दीन ने कहा बहुत महत्वाकांक्षी महिला है। अब हसीन से मेरा कोई संपर्क नहीं है। मेरी बेटियां अक्सर अपनी मां के संपर्क में रहती हैं। शेफुद्दीन ने बताया कि हसीन अपने पैर पर खड़ा होना चाहती थी, लेकिन हमारे घर की महिलाओं को नौकरी करने की इजाजत नहीं है। शायद यही पाबंदी हसीन को नापसंद थी।

ऐसे बन गईं क्रिकेटर शमी की बेगम

2010 में सैफुद्दीन से तलाक होने का बाद हसीन ने जिंदगी में आगे बढ़ने का फैसला किया। 2014 में हसीन आइपीएल में चीयरलीडर का काम कर रही थी। आइपीएल के दौरान ही हसीन और मोहम्मद शमी की मुलाकात हुई। इस मुलाकात के बाद दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ गई। हसीन ने इसके बाद कोलकाता में रहना शुरू कर दिया और फिर दोनों ने निकाह कर लिया।

जन्म एक साधारण से परिवार में हुआ

क्रिकेटर शमी के बारे में तो सभी जानते हैं, लेकिन उनकी पत्नी हसीन जहां के बारे में बहुत से ऐसे राज़ है जो अभी तक पर्दे के पीछे ही हैं। अब धीरे-धीरे हसीन जहां कि जिंदगी के बारे में भी कई राज खुल रहे हैं। साधारण से परिवार से ताल्लुक रखने वाली हसीन जहां कैसे एक भारतीय तेज़ गेंदबाज़ की बेगम बन गई।हसीन जहां का जन्म एक साधारण से परिवार में हुआ। हसीन के पिता ट्रांसपोर्ट का काम करते हैं। उनके परिवार में उनके अलावा उनकी दो और बहनें हैं। उनकी बड़ी बहन दिल्ली में रहती है और छोटी बहन पश्चिम बंगाल के बीरभूम में रहती हैं। हसीन के पिता ने एक बार एक साक्षात्कार में बताया कि उनकी बेटी बचपन से ही पढ़ाई और स्पोर्ट्स में अच्छी थी। हसीन की शुरु से इच्छा थी कि वो अपने पैरों पर खड़ी हों। इतना ही नहीं उसने जिला स्तर पर कई अवॉर्ड भी जीते। साथ ही वह जब छोटी थी तभी से अन्याय और गलत के खिलाफ रही।

15 करोड़ का फार्म हाउस है शमी और हसीन जहां के झगड़े की जड़

शमी का खरीदा गया फार्म 60 एकड़ यानि कि 150 बीघा जमीन पर फैला है, जिसकी बाजार भाव से कीमत करीब 12-15 करोड़ रुपए बैठती है। खास बात है मोहम्मद शमी ने फार्महाउस का नाम अपनी पत्नी हसीन जहां के नाम पर रखा है, लेकिन कानूनी तौर पर फार्म हाउस में हसीन जहां का कोई हिस्सा नहीं है।शमी अमरोहा के अली नगर गांव में खरीदे गए फार्म हाउस पर स्पोर्ट्स एकेडमी खोलना चाहते हैं। लेकिन हसीन जहां शमी के इस इन्वेस्टमेंट से खुश नहीं हैं, दरअसल हसीन जहां अमरोहा के बजाए पश्चिम बंगाल में प्रॉपर्टी खरीदना चाहती थी।

फार्म 60 एकड़ यानि कि 150 बीघा जमीन पर फैला है, जिसकी बाजार भाव से कीमत करीब 12-15 करोड़ रुपए बैठती है। मोहम्मद शमी ने फार्महाउस का नाम अपनी पत्नी हसीन जहां के नाम पर रखा है, लेकिन कानूनी तौर पर फार्म हाउस में हसीन जहां का कोई हिस्सा नहीं है। अमरोहा में प्रॉपर्टी खरीदने के कारण ही शमी और उनकी पत्नी के वैवाहिक जीवन में खटास आयी है। अमरोहा शमी का गृह जिला है, लेकिन फिलहाल वह पश्चिम बंगाल की तरफ से प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलते हैं। शमी की पत्नी हसीन जहां भी कोलकाता की रहने वाली हैं। 

मुहम्मद शमी लगातार अपने बचाव में 

पत्नी के आरोपों पर मुहम्मद शमी लगातार अपने बचाव में बयान दे रहे हैं। मुहम्मद शमी ने बयान जारी कर कहा था कि वह अपनी पत्नी और उनके परिवार से इस मसले पर बात करना चाहते हैं।

शमी ने मंगलवार को सोशल मीडिया पर पोस्ट लिख इस मुश्किल घड़ी में उनका सपोर्ट करने वाले फैंस को शुक्रिया कहा। वहीं बता दें कि शमी पर उनकी पत्नी ने जो गंभीर आरोप लगाए हैं उसके बाद कोलकाता पुलिस जांच शुरू कर दी है। कोलकाता पुलिस ने सोमवार को बीसीसीआइ को पत्र लिखकर शमी के बारे दक्षिण अफ्रीका दौरे से जुड़ी जानकारी मांगी है। 

धौनी ने शमी का किया समर्थन 

विवादों के बीच टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने मुहम्मद शमी का समर्थन किया है। धोनी ने कहा है कि मुहम्मद शमी एक बेहतरीन इंसान हैं और वो ऐसे शख्स नहीं हैं जो अपनी पत्नी और अपने देश को धोखा दें।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक धोनी ने कहा कि वह इस मामले में ज्यादा कुछ नहीं बोलना चाहते, क्योंकि यह एक पारिवारिक मसला है और शमी की निजी जिंदगी से जुड़ा है। जहां तक मैं जानता हूं, शमी एक बेहतरीन इंसान हैं। 

Posted By: Dharmendra Pandey