अमरोहा (जेएनएन)। बच्चों के पढ़ते समय कल देर शाम अमरोहा में देहात थानाक्षेत्र के गांव कांकरसराय में मदरसा हातिम-उल-उलूम मदरसा में 11000 वोल्ट का बिजली का तार टूटकर छत पर गिर गया। करंट कमरों तक पहुंचने के कारण 25 बच्चे झुलस गए। इसके बाद बच्चों को तत्काल जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां पर डॉक्टरों के साथ ही डीएम ने भी उनका हाल लिया। सभी की हालत खतरे से बाहर है।

मदरसा की छत पर गिरे तार का करंट बारिश के कारण कमरों की दीवारों में पहुंच गया। इसे करंट की चपेट में आकर 25 बच्चे झुलस गए। पुलिस व प्रशासनिक अमले ने आननफानन में बच्चों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उनकी हालत खतरे से बाहर बताई है।

अमरोहा से करीब चार किलोमीटर दूर गांव कांकरसराय के मदरसे में कल शाम बच्चे पढ़ रहे थे। तभी अचानक मदरसे के ऊपर से गुजर रही 11 हजार वोल्टेज की लाइन का तार टूट गया।

तार मदरसे की छत पर गिरते ही करंट फैल गया। करंट लगते ही बच्चे चीखने लगे। मदरसे में भगदड़ मच गई। तभी लाइन ट्रिप होने से बिजली चली गई। सूचना मिलते ही माता-पिता मदरसे की ओर दौड़ पड़े।

पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। सभी बच्चों को अस्पताल पहुंचाया गया। अधिशासी अभियंता एसपी टांक ने बताया लाइन में फाल्ट आने से तार टूटकर मदरसे पर गिर गया।

लाड़लों का हाल जानने बदहवास हालत में पहुंचे परिजन

मदरसे में बच्चों को एचटी लाइन का करंट लगने की सूचना से गांव में खलबली मच गई। लाड़लों का हाल जानने को बदहवास हालत में परिवार के लोग जिला अस्पताल पहुंचे और अपनों को सही सलामत देख उन्होंने राहत की सांस ली।

अपने लाड़लों की सलामती की दुआ करते हुए परिवार के लोग बदहवास हालत में जिला अस्पताल पहुंचे। लाड़लों को सही सलामत देख उन्होंने शुक्रिया अदा किया। अस्पताल में भर्ती सभी बच्चों की हालत से खतरे से बाहर बताई गई है।

हादसे के बाद अनीस अहमद, जमशेद अली, मुनब्बर अहमद, राशिदा बेगम, जुवैर खां, अमीर अहमद, नसीम फरुकी, मुहम्मद अकरम, जमशेद व बिलाल आदि ने बच्चों को सही सलामत देखा तो उन्हें सकून मिला। वहीं, जिला अस्पताल पर बड़ी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ भी इकट्ठा हो गई, जिन्हें पुलिस-प्रशासन ने समझा-बुझाकर वापस भेजा।

By Dharmendra Pandey