बछरायूं : महामाया पॉलीटेक्निक कॉलेज की कंप्यूटर लैब में आग लगने से दो दर्जन कंप्यूटर, प्रिटर, एसी समेत लाखों रुपये का माल जलकर राख हो गया। सूचना पर पहुंची दमकल टीम ने बमुश्किल आग पर काबू पाया। आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है। प्रधानाचार्य ने 25 लाख रुपये के नुकसान की बात कही है।

थाने के निकट महामाया पॉलीटेक्निक कॉलेज बना हुआ है। इसमें छात्रावास भी है। कॉलिज का स्टाफ मतदान ड्यूटी में गया हुया था। कॉलिज के केवल छात्र ही मौजूद थे। गुरुवार की रात कॉलिज परिसर में बनी कंप्यूटर लैब में शॉर्ट सर्किट से अचानक आग लग गई। देखते ही देखते आग ने भयानक रूप ले लिया। इस दौरान आग की चपेट में आकर यहां रखें 24 कंप्यूटर, पांच प्रिटर, दो एसी व फर्नीचर जलकर राख हो गया।

आग इतनी भयानक थी कि लैब की लकड़ी की खिड़कियों को जलाने के बाद बाहर की तरफ निकलना शुरू हो गई। कंप्यूटर लैब से धुआं उठता देख छात्रावास में रहे रहे छात्रों में हड़कंप मच गया। उन्होंने आनन फानन में इसकी सूचना कॉलेज स्टाफ को दी। कॉलेज स्टाफ ने पुलिस व दमकल को सूचना देकर मौके पर बुला लिया। दमकल की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

कॉलेज के प्रधानाचार्य बीपी सिंह ने शॉर्ट सर्किट आग लगने की पुष्टि करते हुए बताया कि आग से करीब 25 लाख का नुकसान हुआ है। बिजली विभाग की ट्रिपिग बन रही हादसों का सबब

बछरायूं : बिजली विभाग द्वारा रात में की जा रही ट्रिपिग शॉर्ट सर्किट का प्रमुख कारण बताई जा रही है। कस्बे के लोगों का आरोप है कि बिजली विभाग रात में कई बार ट्रिपिग करता है। इस कारण बिजली आती व जाती रहती है। बिजली बंद होने के बाद तेज वोल्टेज संग वापस आती है। इस कारण विद्युत उपकरण फुंकने का डर बना रहता है। प्रधानाचार्य बीपी सिंह ने बताया छात्रों के अनुसार 18 तारीख की रात को कई बार विभाग द्वारा ट्रिपिग की गई। इसी कारण शॉर्ट सर्किट से नुकसान हुआ है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप