अमरोहा : कृषि सूचना तंत्र सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम के अंतर्गत मंडलायुक्त राजेश कुमार ¨सह ने राजकीय मिनी स्टेडियम में गुरुवार को तीन दिवसीय किसान मेले का फीता काटकर एवं दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया। इस दौरान जहां मंडलायुक्त ने किसानों से उत्पादन में वृद्धि, फसल सुरक्षा एवं आर्थिक उत्थान को जैविक खेती पर जोर दिया। वहीं मंडल भर से आए किसान भी खेती की नवीन तकनीकों से रूबरू हुए। कृषि वैज्ञानिकों ने भी उनकी शंकाओं का समाधान किया।

मंडलायुक्त ने कहा जागरूकता और किसानों की समस्याओं के निराकरण हेतु किसान मेले का आयोजन किया गया है। उन्होंने किसानों को आश्वस्त किया कि अमरोहा चीनी मिल को चलाने के लिए वे शासन स्तर पर बात करेगें और कोशिश करेंगे कि उक्त चीनी मिल अगले पेराई सत्र से हर हाल में शुरू हो जाए। राज्य और केन्द्र सरकार सबका साथ सबका विकास के नारे के साथ कार्य रही है। आधुनिक और जैविक खेती अपनाने से किसानों का तेजी से विकास होगा।

मंडल भर से आए किसानों का आह्वान करते हुए कहा कि फसलों के विकास को वह आधुनिक खेती की तकनीकों का अनुसरण करें। संयुक्त निदेशक कृषि जितेंद्र कुमार तोमर ने कहा कि विराट किसान मेले में पंजाब, लुधियाना और लखनऊ से विभिन्न कृषि यंत्र मंगाये गये है ताकि किसान भाई उनके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें। कृषि, पशुपालन और उद्यान विभाग की योजनाओं में किसान भाई अपना पंजीकरण अवश्य करा लें। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत मण्डल में 10 फीसद किसान ही लाभ प्राप्त कर रहें हैं, इसलिए इस बीमा योजना का अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित किया।

जिलाधिकारी नवनीत ¨सह चहल ने कहा कि केन्द्र सरकार की मंशा है कि वर्ष 2022 तक किसानों की आयु दोगुनी की जाये और बेहतर करने के लिए आधुनिक और जैविक खाद के अधिक से अधिक प्रयोग करने को प्रोत्साहित किया जाए। किसान मेले में डॉ. शालिनी फरदयाल समेत बाहर से आए कृषि वैज्ञानिकों ने विभिन्न प्रकार की जैविक खेती, खाद आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी। किसान मेले का संचालन जिला कृषि अधिकारी राजीव कुमार ¨सह ने किया।

इससे पूर्व मंडलायुक्त ने गन्ना विभाग, पशुपालन विभाग, उद्यान विभाग, बैंक और भू-संरक्षण विभाग के द्वारा लगाये गये स्टॉलों का बारीकी से निरीक्षण किया। कहा कि किसान मेले में एक ही मंच पर किसानों को अधिक से अधिक जानकारी उपलब्ध करायी जाती हैं। फसलों की नवीनतम प्रजातियों के बीज व मिनी किट की बिक्री, शाक भाजी एवं फलों के उन्नत बीजों व पौधों की बिक्री, किसानों के लिए उपयोगी उन्नत तकनीकों एवं कृषि उद्योग प्रदर्शनी, कृषि समस्याओं के समाधान के लिए किसान गोष्ठी, आधुनिक कृषि यन्त्रों की प्रदर्शनी आदि का भी मेले में आयोजन किया गया है।

किसान मेले में पूर्व पालिकाध्यक्ष अतुल कुमार जैन, एडीएम एमए अंसारी, मुख्य विकास अधिकारी चन्द्रपाल ¨सह, उप जिलाधिकारी सुखबीर ¨सह, उप कृषि निदेशक ओमेन्द्र पाल ¨सह, जिला गन्ना अधिकारी विजय बहादुर ¨सह, किसान नेता चौधरी दिवाकर समेत बड़ी संख्या में मण्डल भर से आए किसान बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran