जोया : क्षेत्र के गांव सलारपुर माफी मे चल रही श्रीमद्भागवत कथा सप्ताह के दूसरे दिन कथावाचक साध्वी गीता ने कलयुग-परीक्षित मिलन का मार्मिक वर्णन किया, इसे सुनकर श्रद्धालु भावविभोर हो गए।

कथा वाचक साध्वी गीता ने कलयुग-परीक्षित की कथा का वर्णन करते हुए कलयुग को चार स्थानों पर बताया जैसे मदिरा, जुआ, वैश्या गमन और जीव हत्या। कहा जुए का काम हारना, मदिरा पान पतन का परिणाम, जहां वैश्याएं नाचती हैं तथा जीव हत्याएं होती हैं वहां घोर कलयुग विराजमान होता है। इससे पूर्व भजन कीर्तन का भी आयोजन किया गया, इसमें श्रद्धालुओं ने बढ़ चढ़कर प्रतिभाग किया।

इस अवसर पर मुन्नी देवी, पुष्पा देवी, सीमा, बिरेन्द्र चौधरी, आशा देवी, नरदेव, सोमकार, मुनेश, सुमन, धर्मवीर ¨सह आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran