अमरोहा : डेंगू से पीड़ित न्यायिक कर्मी की उपचार के दौरान मौत हो गई। उन्हें तीन दिन पहले बुखार आया था। शुक्रवार को ही डेंगू की पुष्टि हुई थी। जिले में डेंगू से यह पहली मौत है। स्वजन ने मृतक का अंतिम संस्कार कर दिया है।

नगर के मुहल्ला भीमनगर कुरैशी निवासी समाजसेवी हरिसिंह मौर्य के बेटे जयभीम मौर्य जनपद कन्नौज के जिला न्यायालय में वरिष्ठ लिपिक के पद पर तैनात थे। इन दिनों वह घर आए हुए थे। स्वजन के मुताबिक तीन दिन पहले उनको बुखार आया था। पहले तो स्थानीय चिकित्सकों से इलाज कराया लेकिन, हालत में सुधार नहीं होने पर मुरादाबाद के कासमास अस्पताल में भर्ती कराया। प्लेटलेट्स गिरने की शिकायत पर चिकित्सकों ने उनकी एलाइजा जांच कराई तो डेंगू की पुष्टि हुई। वहीं कासमास अस्पताल में उपचार के दौरान शनिवार की सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया।

उनकी मौत से स्वजन का रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक ने अपने पीछे दो मासूम बच्चे छोड़े हैं। उधर जिले में डेंगू से व्यक्ति की मौत होने पर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। अब तक जिले में 18 लोगों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है। जबकि बीते डेढ़ महीने में बुखार से 11 लोगों की मौत हो चुकी है। सीएमओ डॉ संजय अग्रवाल ने बताया कि विभाग द्वारा डेंगू को लेकर सतर्कता बरती जा रही है। बुखार पीड़ितों की एलाइजा जांच कराई जा रही है।

मंडी धनौरा : ग्राम प्रधान की डेंगू आशंकित पत्नी को उपचार के लिए निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

कुछ दिनों पहले शहर के मुहल्ला हीरा नगर निवासी एक 18 वर्षीय युवक डेंगू की चपेट में आ गया था। उसका उपचार मुरादाबाद के निजी चिकित्सालय में चल रहा था। मलेशिया के ग्राम प्रधान हरीश यादव की पत्नी रजनी यादव को भी पिछले दिनों से बुखार आ रहा था। निजी चिकित्सक से उनका उपचार चल रहा था। आराम नहीं होने पर उन्होंने डेंगू की रिपोर्ट कराई। जिसमें एनएस वन की पुष्टि हुई है। ग्राम प्रधान की पत्नी का उपचार एक स्थानीय अस्पताल में चल रहा है। क्षेत्र में लगातार डेंगू के मामले बढ़ रहे हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग हाथ पर हाथ रखे बैठा है। जिसको लेकर लोगों में रोष व्याप्त है।

Edited By: Jagran