अमरोहा: मृत महिला को जिदा दिखा कर उसके नाम से जमीन का फर्जी बैनामा करा दिया। मामले की जानकारी होने पर मृतका के बेटे ने अदालत की शरण ली। अदालत के आदेश पर अधिवक्ता समेत पांच लोगों को नामजद किया गया है। जबकि एक अज्ञात महिला के खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

यह मामला नौगावां सादात थाना क्षेत्र के गांव निजामपुर गर्वी का है। नगर कोतवाली क्षेत्र के मुहल्ला हक्कानी निवासी जावेद का आरोप है 31 अगस्त 1995 को उसके पिता मुहम्मद याकूब ने निजामपुर गर्वी में मुहल्ला सट्टी निवासी शाने हक से जमीन खरीदी। यह जमीन उन्होंने अपनी पत्नी यानी उसकी मां हसीना खातून के नाम दर्ज कराई। अभी तक फर्द में दोनों के नाम चल रहे हैं।

आरोप है मुहल्ला नौगजा निवासी हाजी मुशाहिद ने 9 जून 2021 को अधिवक्ता सतपाल सिंह के माध्यम से इस जमीन का बैनामा गांव सैदपुर इम्मा निवासी बाबू को एक लाख 80 हजार रुपये में करा दिया। बैनामा कराने में जावेद की मां हसीना खातून के स्थान पर किसी अन्य महिला का फोटो लगा दिया तथा गवाही भी करा दी। अधिवक्ता ने दो फर्जी गवाह भी पेश कर दिए। जबकि हसीना खातून की मौत 29 दिसंबर 2016 को हो चुकी है।

मामले की जानकारी होने पर उन्होंने एसपी कार्यालय में शिकायती पत्र दिया। इस पर कार्रवाई नहीं हो सकी। बाद में उन्होंने अदालत की शरण ली। इस मामले में अदालत ने नौगावां सादात थाना पुलिस को रिपोर्ट दर्ज करने का आदेश दिया। अदालत के आदेश पर नौगावां सादात पुलिस ने हाजी मुशाहिद निवासी मुहल्ला नौगजा, बाबू निवासी सैदपुर इम्मा, अब्दुल समद निवासी अतरासी कलां थाना रजबपुर, हसीना बानों निवासी मुहल्ला मजापोता, अधिवक्ता सतपाल सिंह निवासी किशनगढ़ व एक अज्ञात महिला के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। प्रभारी निरीक्षक शैलेंद्र चौहान ने बताया रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

Edited By: Jagran