अमरोहा, जेएनएन: आदमपुर थाना क्षेत्र के बहादरपुर मिश्र गांव में एक क्लीनिक संचालक के इलाज के दौरान चार माह के मासूम बेटे की बुखार से मौत हो गई।

गांव निवासी फतेह सिंह की पत्नी गीता ने अपने चार माह के बेटे अनुज को बुखार आने पर गांव में ही एक क्लीनिक संचालक को दिखाया था। उसके इलाज से बच्चे की हालत में सुधार होने के बजाय और बिगड़ती चली गई तथा शनिवार सुबह करीब नौ बजे बालक ने दम तोड़ दिया। बच्चे की मौत के बाद स्वजन ने क्लीनिक संचालक पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। मृतक की माता गीता का कहना है कि उनके भाई डालचंद ने क्लीनिक संचालक से शिकायत की। आरोप है कि क्लीनिक संचालक उसके साथ गाली गलौज करते हुए मारपीट करने को अमादा हो गए। मृतक बालक की मां ने थाने में तहरीर देकर क्लीनिक संचालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की है। प्रभारी निरीक्षक विनय कुमार ने बताया कि बुखार से बालक की मौत के मामले में तहरीर मिली है। जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

बुखार से विवाहिता की मौत, मायके वालों ने किया हंगामा

संवाद सूत्र, जोया: बुखार से पीड़िता की मौत के बाद मायके वालों ने हंगामा किया तथा ससुराल वालों पर उपचार न कराने का आरोप लगाया। मौके पर पहुंचे सीओ विजय कुमार राणा व एसओ रमेश सहरावत ने दोनों पक्षों के लोगों को समझा कर मामला शांत कराया। उसके बाद दोनों पक्षों में समझौता हो गया तथा मृतका का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

कोतवाली डिडौली क्षेत्र के गांव जग्गा नंगला में मजदूर मोनू सैनी का परिवार रहता है। उनकी पत्नी कृष्णा देवी बीते एक सप्ताह से बुखार से पीड़ित चल रही थीं। जिनका उपचार गांव में ही निजी चिकित्सक से चल रहा था। हालत में सुधार न होने पर स्वजन शुक्रवार शाम उन्हें अमरोहा निजी अस्पताल में उपचार कराने के लिए ले जा रहे थे। उनकी रास्ते में ही मौत हो गई। मौत की खबर सुनकर थाना अमरोहा देहात क्षेत्र के गांव जलीलपुर बक्काल निवासी मायके वाले गांव पहुंच गए। उन्होंने ससुराल वालों पर समय से उपचार न कराने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। ससुराल वालों पर बेटी की हत्या करने का आरोप लगाते हुए कंट्रोल रूम को सूचना दे दी। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष रमेश सहरावत मौके पर पहुंचे तथा बाद में क्षेत्राधिकारी सदर विजय कुमार राणा भी टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। दोनों पक्षों को समझा कर मामला शांत कराया। उसके बाद दोनों पक्षों में समझौता हो गया तथा मृतका का अंतिम संस्कार कर दिया गया। एसओ ने बताया कि किसी भी पक्ष द्वारा तहरीर नहीं दी गई है। उनके बीच समझौता हो गया है।

Edited By: Jagran