अमेठी: केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति इरानी शुक्रवार को अपने संसदीय क्षेत्र के एक दिवसीय दौरे पर आ रही हैं। वह यहां देवी मंदिरों में पहुंचकर दर्शन पूजन करेगी और विजयदशमी पर आयोजित रामलीला के आयोजन के साथ कई अन्य कार्यक्रमों में भी हिस्सा लेगी।

केंद्रीय मंत्री के प्रतिनिधि विजय गुप्ता ने बताया कि दीदी स्मृति शुक्रवार सुबह विमान से लखनऊ पहुंचेगी और वहां से सड़क मार्ग से अपने ससंदीय क्षेत्र के तिलोई विधानसभा में स्थित अहोरवा भवानी माता मंदिर सिंहपुर पहुंचेगी। यहां दर्शन पूजन के बाद दीदी गौरीगंज के दुर्गन भवानी मंदिर पूजा-अर्चना करने पहुंचेगी। गौरीगंज से केंद्रीय मंत्री अमेठी के कालिकन धाम मंदिर संग्रामपुर जाएगी। देवी मंदिरों में पूजा-अर्चना के बाद वह अपने संसदीय क्षेत्र में आयोजित दूसरे कार्यक्रमों में भी हिस्सा लेगी। अमेठी से मुसाफरिखाना, जगदीशपुर होते हुए वह वापस लखनऊ लौट जाएगी। केंद्रीय मंत्री के आगमन को लेकर पुलिस व प्रशासन ने भी तैयारी शुरू कर दी है।

नवरात्र शुरू होने के साथ ही केंद्रीय मंत्री स्मृति की ओर से यहां की सभी देवी मंदिरों में हर दिन पूजा करवाई जा रही है। अलग-अलग देवी मंदिरों में भाजपा व उत्थान सेवा संस्थान के लोग पहुंच सांसद की ओर से मां की पूजा में शामिल हो रहे हैं।

मां के नौ रूपों की आराधना कर मांगा सुख-समृद्धि का आशीर्वाद

अमेठी: शारदीय नवरात्र के नौवें दिन मां महागौरी की आराधना के लिए देवी मंदिरों में भक्ति के रस में सराबोर श्रद्धालु उत्साह के साथ सुबह से ही मंदिरों पर पहुंचे। वहीं, देवी भक्तों ने घरों व मंदिरों में शक्ति स्वरूपा कन्याओं का पूजन व भोज करा कर सुख-समृद्धि की कामना की।

गौरीगंज के कटरालालगंज निवासी देवी भक्त महेश प्रताप सिंह ने कन्या भोज कार्यक्रम का आयोजन किया। भोज में पहुंची शक्ति स्वरूप कन्याओं का सर्वप्रथम चरण धोकर उनका अभिनंदन किया। सभी देवी स्वरूप कन्याओं का पूजन करते हुए वस्त्र व उपहार आदि भेंट कर आशीर्वाद लिया। वहीं, गौरीगंज के दुर्गन भवानी धाम, संग्रामपुर के कालिकन धाम, मुसाफिरखाना के हिगलाज धाम, बाजारशुकुल के कामाख्या मंदिर, तिलोई के अहोरवा भवानी धाम, शाहगढ़ के शमशेरियन धाम सहित जिले के सभी छोटे-बड़े देवी मंदिरों में शक्ति स्वरूपा की आराधना के लिए भक्तों का तांता लगा रहा।

घरों से मंदिरों तक किया गया हवन-पूजन

अमेठी: शारदीय नवरात्र के अंतिम दिन नवमी तिथि पर मां के भक्तों ने जमकर हवन पूजन किया। गांवों में सुहागिनों ने कन्याओं का श्रृंगार कर उन्हें खीर-पूड़ी का भोग लगाया और वस्त्र व धन का दान किया। वहीं, घरों से लेकर मंदिरों तक हवन-पूजन से वातावरण सुगंधित हो उठा। कन्याओं में भोज को लेकर खासा उत्साह दिखा। मांझगांव स्थित मां कामाख्या मंदिर पर सुहागिन महिलाओं का दुखदुरिया कार्यक्रम भी आयोजित हुआ। इसमें गांव की सैकड़ों महिलाओं ने प्रतिभाग किया।

Edited By: Jagran