अमेठी (जेएनएन)। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से 2014 के लोकसभा चुनाव में नजदीकी हार झेलने के बाद भी केंद्रीय मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी का अमेठी पर लगातार फोकस है। स्मृति ईरानी समय-समय पर अमेठी में हर विकास कार्य पर नजर रखने के साथ ही नई योजना के क्रियान्वयन पर भी ध्यान देती हैं। उनके प्रयास से अमेठी का एक गांव डिजिटल हो गया है।

केंद्रीय वस्त्र मंत्री स्मृति ईरानी अमेठी को नायाब तोहफा देने कल एक दिनी दौरे पर अमेठी आ रही हैं। इस दौरान वह जिले में दो योजनाओं का शुभारंभ करेंगी। सबसे पहले वह मुसाफिरखाना ब्लाक के पिंडारा ठाकुर गांव में सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के कामन सर्विस सेंटर के तहत डिजी गांव का शुभारंभ करेंगी। इसके बाद वह अमेठी डाक घर मे डिजिटल बैंकिंग सेवा का शुभारंभ करेंगी। इन दोनों कार्यक्रम के बाद वह लखनऊ के रास्ते नई दिल्ली रवाना हो जाएंगी।

स्मृति जुबिन ईरानी ने 2014 में अमेठी से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के खिलाफ लोकसभा का चुनाव लड़ा था। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को ना सिर्फ कड़ी टक्कर दी थी, बल्कि जीत के अंतर को काफी कम किया था।

स्मृति ईरानी के प्रयास दे अमेठी का पिंडारा ठाकुर गांव डिजिटल गांव के रूप में शुमार होने जा रहा है। कल अमेठी के एक दिनी दौर पर आ रही केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी जिले के पहले डिजिटल गांव का शुभारंभ करेंगी। स्मृति ईरानी की मौजूदगी में सरकार की ओर से चलाई जा रहीं 200 सेवाओं को पूरी तरह डिजिटल कर दिया जाएगा। उनके प्रतिनिधि विजय गुप्ता ने बताया कि ईरानी अपने एक दिन के अमेठी भ्रमण के दौरान मुसाफिरखाना के पींडारा ठाकुर गांव जाएंगी।

यह गांव केंद्र सरकार के प्रोग्राम 'कॉमन सर्विस सेंटर' के तहत चुना गया है। उसके अंतर्गत गांव में सूचना टेक्नोलॉजी सहित विकास के विभिन्न काम होंगे। स्मृति ईरानी कल 11 बजे पींडारा ठाकुर गांव में इन कार्यों का उद्घाटन करेंगी। उसके बाद अमेठी नगर में डाक घर की डिजिटल इंडिया बैंकिंग सेवा का शुभारम्भ करेंगी। पींडरा गांव के लोगों को अब वाई-फाई चौपाल की सुविधा मिलेगी इसके साथ ही 2 जीबी डाटा 15 दिन के लिये बेहद सस्ते दर पर उपलब्ध कराई जाएगी।

स्मृति ईरानी ने 2014 में अमेठी की लोकसभा सीट को बेहद लोकप्रिय बना दिया था। राहुल गांधी को यहां पर उन्होंने कड़ी टक्कर दी थी, जबकि यहां से आम आदमी पार्टी ने कुमार विश्वास को प्रत्याशी बनाया था। पूरे देश की निगाहें मतगणना के दिन इस सीट पर थीं। एक समय ऐसा भी आया जब स्मृति ईरानी, राहुल गांधी से आगे हो गई थीं और अमेठी का यह रुझान पूरे देश में चर्चा का विषय बन गया।

स्मृति जुबिन ईरानी ने इस चुनाव में हार के बाद भी अमेठी से नाता नहीं तोड़ा और यहां उनकी सक्रियता लगातार बनी है। माना जा रहा है कि अमेठी वासियों के लगातार संपर्क में रहने वाली स्मृति ईरानी का उनके साथ एक मजबूत रिश्ता कायम हो गया है, जो आगामी चुनाव में कांग्रेस के लिए बड़ी चुनौती हो साबित हो सकती है।

पिंडारा ठाकुर गांव में उल्लास

पिंडारा ठाकुर गांव के एक डिजिटल गांव के रूप में विकसित होने को लेकर ग्रामीणों में भी खासा उत्साह देखा जा रहा है। पिंडारा ठाकुर गांव के सीएससी सेंटर प्रभारी ने बताया कि स्मृति ईरानी के प्रयास से पिंडारा ठाकुर गांव एक डिजी गांव बनने की अग्रसर हुआ है। जहां सरकारी तंत्र से जुड़ी सभी डिजिटल सुविधाएं लोगों के लिए उपलब्ध होंगी, जिससे ग्रामीणों को बड़ा फायदा मिलेगा। भाजपा के एक नेता ने बताया कि केंद्रीय मंत्री के प्रयासों से पिछले चार सालों में अमेठी विकास के पथ पर दौड़ पड़ा है। 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप