अमेठी, जेएनएन। प्रयागराज, अमेठी सहित सात जिलों में एक तरह के हो रहे अपराध को रोकने के लिए एडीजी प्रयागराज की अगुवाई में अलग से एक टीम गठित होगी। जिसमें आईजी अयोध्या भी होंगे। अपराध की समीक्षा के बाद पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहाकि प्रदेश में अपराध में गिरावट आई है। पिछले दो सालों में कोई भी दंगा नहीं हुआ है। अपराधियों को मुठभेड़ में पुलिस ने मारा गिराया है। महिला अपराध को रोकने में पुलिस ने अच्छा काम किया है। आरोपितों को कम समय में सजा दिलाकर पुलिस ने एक नजीर भी पेश की है। लोगों के मन में पुलिस के प्रति विश्वास पैदा हुआ है।

इन जिलों में हो रहे एक तरह के अपराध 

जिले के साथ ही प्रतापगढ़, जौनपुर, कौशम्बी, सुलतानपुर, आंबेडकरनगर व प्रयागराज में एक तरह के अपराध खासकर कैश लूट की घटनाएं हो रही हैं। डीजीपी ने कहाकि गैंग चिंहित कर तेजी से बदमाशों की गिरफ्तारी की जा रही है।

 

राम मंदिर पर आने वाले फैसले को लेकर सतर्क है पुलिस 

अयोध्या में श्री राम मंदिर पर आने वाले फैसले को लेकर पुलिस विभाग पूरी तरह से सर्तक है। सूबे में सौहार्द पूर्ण माहौल है। डीजीपी ने पुलिस अधीक्षकों पूरी तरह से सतर्क रहने व छोटी-छोटी बातों को गंभीरता से लेने का निर्देश दिया। बैठक में एडीजी सुजीत पांडेय, आईजी अयोध्या डा. संजीव कुमार गुप्ता, एसपी अमेठी डा.ख्याति गर्ग सहित सुलतानपुर, आंबेडकरनगर, प्रतापगढ़ के साथ एलआईयू एसपी अयोध्या व प्रयागराज भी मौजूद रहे।

भीड़ की पिटाई से हुई युवक की मौत, हो रही जांच 

फतेहपुर में भीड़ द्वारा छतीसगढ़ के युवक की भीड़ की पिटाई से मौत के मामले में डीजीपी ने कहाकि युवक ने अपनी ससुराल आकर अपनी पत्नी को मारा था। जिसके बाद भीड़ की पिटाई से युवक की मौत हो गई है। मामले की जांच की जा रही है, जो दोषी होंगे। उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस