अमेठी (जेएनएन)। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ अमेठी में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर हमलावर रहे। तीनों नेताओं ने यूपी सरकार और केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाईं और राहुंल गांधी पर अमेठी के विकास की अनदेखी का आरोप लगाया और कहा कि अब मोदी और योगी की जोड़ी विकास का नया इतिहास लिखेगी। अमेठी में विकासपरक योजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास के बाद इन नेताओं ने समारोह को संबोधित किया। 

केंद्रीय वस्त्रोद्योग एवं सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी पर राजीव गांधी फाउंडेशन के नाम पर जमीन पर कब्जा और किसानों से छल करने का आरोप लगाया। ईरानी ने 2014 के लोकसभा चुनाव की याद दिलाते हुए कहा कि उन्हें यहां की जनता और कार्यकर्ताओं ने हिम्मत दी और एक रिश्ता बन गया। स्मृति ने कहा कि उनका कोई स्वार्थ नहीं है। हमने वादा किया था कि राहुल गांधी के पास भले न हो, लेकिन हम अमेठी को वक्त देंगे। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर भी राहुल के प्रभाव में अमेठी के विकास की अनदेखी का आरोप लगाया। राहुल को घेरते हुए कहा कि उन्होंने अमेठी को हमेशा वोट की नजर से देखा। अमेठी के इतिहास का एक पन्ना सभा स्थल को भी समर्पित है। सभा को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने भी संबोधित किया। 

भाजपा अध्यक्ष ने तो अमेठई में 2019 के लोकसभा चुनाव की रणभेरी भी बजा दी। अमित शाह ने राहुल गांधी के परनाना, दादी और माता-पिता का जिक्र करते हुए कहा कि सब सत्ता में रहे लेकिन यहां कोई काम नहीं हुआ। योगी आदित्यनाथ ने तीखे तेवर में कहा कि राजीव गांधी फाउंडेशन के नाम पर जमीन हड़पने की साजिश सफल नहीं होने देंगे। कहीं दामाद जमीन हड़पे और कहीं बेटा, अब यह नहीं चलेगा। किसानों की जमीन हम किसी की बपौती नहीं बनने देंगे। 

 

 

 

 

Posted By: Nawal Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप