सिंहपुर (अमेठी): लगातार हो रही बारिश से एक ओर जहां आमजन बेहाल है। लोगों के कच्चे मकान अधिक बारिश के चलते धराशायी हो रहे है। वहीं दूसरी ओर लोगों को सड़कों पर चलने में भी खासा मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र के ज्यादातर मुख्य मार्ग बारिश से बेहाल हो चुके हैं। आलम यह कि जलभराव होने से सड़कें गड्ढों में तब्दील होती जा रही हैं।

मानसून की बरसात ने सड़कों का दम निकाल दिया है। सड़कों पर पहले से ही बने गढ्डे को बरसात के पानी ने और गहरा कर दिया है। हालत यह हो गई है कि कुछ महीनों पहले मरम्मत की गई सड़कें खस्ताहाल हो चुकी है। डामरीकृत मार्ग पथरीली राहों में तब्दील हो गए हैं। बारिश ने स्थिति और अधिक बदतर कर दी है। राहगीरों को बड़े बड़े गढ्डों से दो चार होना पड़ रहा है। जर्जर हो चुकी सड़कों पर राहगीर पानी भरे गढ्डों से निकलने को मजबूर है। क्षेत्र के इन्हौना-महराजगंज, इन्हौना-तिलोई, अहोरवा भवानी-जैतपुर, सेमरौता-शिवरतनगंज समेत प्रमुख मार्गों पर बड़े-बड़े गढ्डे हो चुके हैं। विभागीय अनदेखी के कारण राहगीर इन गढ्डों में गिरकर चुटहिल भी हो रहे हैं। क्षेत्रवासी अमरीश कुमार, राजीव त्रिवेदी, योगेंद्र कुमार, मनीष सिंह आदि ने कहते हैं कि इन सड़कों पर पानी भर जाने से मुसाफिरों का आना जाना मुश्किल है। लोगों को हो रही इस समस्या की तरफ सड़क महकमा कोई ध्यान नहीं दे रहा है।

अपर जिलाधिकारी ईश्वरचंद ने बताया कि सड़कों की मरम्मत के लिए लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिया है। बरसात के बाद सभी सड़कों की मरम्मत कराई जाएगी।

Posted By: Jagran