अमेठी [अवनीश त्यागी]। अपने संसदीय क्षेत्रवासियों का मिजाज भांपने पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए सरकार पर उन्नाव प्रकरण में बलात्कारियों को बचाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पीडि़तों के बजाए बलात्कारियों को सुरक्षा प्रदान कर मदद की जा रही है। तीन दिवसीय दौरे पर सोमवार को दोपहर करीब 12 बजे पहुंचे राहुल ने किसान पंचायत व संवाद कार्यक्रमों के जरिये क्षेत्रवासियों की शिकायतें और उलाहने सुने परंतु केंद्र व प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार होने की बात कहकर अपना बचाव किया। राहुल का दौरा विवादों से अछूता नहीं रहा। कार्यकर्ताओं के एक खेमे ने प्रदेश संगठन में पक्षपात होने को आपत्ति दर्ज करायी तो जिला प्रशासन ने आधी अधूरी सड़क का उद्घाटन कार्यक्रम करने से राहुल को रोक दिया।

जैनबगंज मंडी में किसान संवाद कार्यक्र्म को संबोधित करते हुए राहुल ने उन्नाव प्रकरण के अलावा केंद्र व प्रदेश को किसान विरोधी नीतियों पर घेरा। किसानों ने बिजली, पानी व फसलों का उचित मूल्य न मिलने की समस्याएं उठायी। जिस पर राहुल ने कर्जा माफी व बेरोजगारी जैसे मुद्दों को जोड़ते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूंजीपतियों का हितैषी करार दिया। राहुल ने 15 बडे पूंजीपतियों का 15 लाख करोड़ रुपये कर्जा माफ करने का जिक्र कर किसानों के जख्मों को कुरेदा। उन्होंने नरेंद्र व नीरव को बड़ा छोटा मोदी बताते हुए तंज कसा। चीनी सेना की घुसपैठ और नीरव मोदी, विजय माल्या व सुशील मोदी के मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मौन पर सवाल उठाया। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनता को बहलाने के लिए जो झूठ दावे करते रहे उनको सरकार बनने पर कांग्रेस पूरा कर दिखाएगी।

राहुल नहीं कर सके सड़क का शिलान्यास : भाजपा नेताओं के आपत्ति करने पर राहुल गांधी को पांच किलोमीटर लंबी सडक का उद्घाटन करने से जिला प्रशासन ने रोक दिया। जिलाधिकारी शकुंतला गौतम ने बताया कि सड़क निर्माण कार्य अभी पूरा नहीं हो सका है इसलिए सड़क का लोकार्पण उचित नहीं होगा, क्षेत्रीय सांसद होने के नाते राहुल सड़क का निरीक्षण कर सकते है। सड़क उद्घाटन के मुद्दे पर कांग्रेस व भाजपा में तानातनी बढ़ी है। भाजपा नेताओं का कहना है कि सड़क का उद्घाटन केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी करेंगी जबकि कांग्रेस विधायक दीपक सिंह का कहना है कि प्रधानमंत्री सड़क निर्माण योजना के तहत बनी इस सड़क का शिलान्यास 16 जनवरी को क्षेत्रीय सांसद होने के नाते राहुल गांधी ने किया था।

आवारा पशुओं से छुटकारा दिला दो : राहुल गांधी ने लखनऊ एयरपोर्ट से सड़क मार्ग से अमेठी पहुंचने तक आधा दर्जन से अधिक गांवों में जाकर ग्रामीणों से सीधे संवाद किया। चिलचिलाती धूप में खूब पसीना बहाया। पाली गांव से निकलते ही खेत में गेहूं कटाई कर रहे किसानों के बीच पहुंच गए। श्यामनारायण, देश दीपक सिंह, शांति व जगन्नाथ आदि किसानों ने राहुल को सिंचाई संकट, टूटी सड़कें और बिजली किल्लत से अवगत कराते हुए आवारा पशुओं सांड आदि से छुटकारा दिलाने की गुहार लगायी। जिस पर राहुल ने चुटकी लेते हुए कहा कि योगी सरकार है। देखते जाएं आगे आगे होता है क्या।

शौचालय का पैसा नहीं मिला, नेता सुध लेने आते नहीं : उरेरूमउ गांव में राहुल को सरकार के प्रति शिकायतें सुनने को मिली को स्थानीय कांग्रेस नेताओ द्वारा भी सुध नहीं लेने का ताना भी सुनना पड़ा। रामशरण ने गांव की कच्ची गलियां दिखाते हुए कहा कि शौचालय निर्माण का शोर मच रहा है परंतु अब तक पैसा नहीं मिला। केदारनाथ पांडेय की गुमटी पर चाय की चुस्की लेते समय भी राहुल को विधवा पेंशन न मिलने और पक्के आवास न मिलने जैसी शिकायतें भी सुनने को मिली। फूस की झोपड़ी वाले गांव चौहान का पुरवा में राहुल ने करीब 35 मिनट बिताए। ग्रामीणों के घर घर जाकर उनकी मन की बात सुनी। सौरंग, संकटाप्रसाद व रामवती का कहना था कि चुनाव नजदीक आए तो नेताओं की आवाजाही बढ़ी परंतु हमारे गांव की भाग्य नहीं बदला। इस गांव में ग्रामीणों को गोमती नदी की बाढ़ समय से राशन न मिलने और टूटी सडकों को लेकर शिकायतें अधिक थीं।

नहीं कर सके सड़क का उद्घाटन

राहुल गांधी को आज जगदीशपुर विकास खंड के रानीगंज-कोटवा मार्ग  का उद्घाटन करना था। भाजपा जिलाध्यक्ष उमाशंकर पांडेय की जिलाधिकारी शकुंतला गौतम से मौखिक शिकायत के बाद उद्घाटन टाल दिया गया। भाजपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि पांच किमी सड़क का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत कराया गया था।

उद्घाटन कार्यक्रम में हमारे किसी भी प्रतिनिधि को बुलाया नहीं गया। जबकि उद्घाटन कार्यक्रम की अध्यक्षता क्षेत्रीय मंत्री सुरेश पासी को करना था और उदघाटन सांसद को, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। हमने यहां पर इस सड़क का उद्घाटन नहीं होने दिया गया।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पहुंचे अमेठी, किसानों से पूछा हाल

कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभालने के बाद आज राहुल गांधी दूसरी बार अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के दौरे पर पहुंचे हैं। लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उनका भव्य स्वागत किया गया। इसके बाद हैदरगढ़ होते हुए राहुल गांधी अमेठी पहुंचे।अमेठी के शुक्लबाजार क्षेत्र में राहुल गांधी कांग्रेसी नेता के घर शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे। कांग्रेस नेता का 13 मार्च को निधन हुआ था। इसके बाद राहुल गांधी का काफिला जैनबगंज की ओर बढ़ गया। इससे पहले ही शुकुल बाजार से निकलते समय राहुल गांधी गेहूं काट रहे किसानों के बीच पहुंच गए। पाली गांव में खेत में उन्होंने किसान बजरंग, किशोर, राधेश्याम तथा अन्य लोगों से वार्ता भी की। पाली गांव में खेतों पर गेहूं कटाई करते किसानों के बीच पहुँचे।

जगन्नाथ, शान्ती, राजू व देशदीपक आदि से समस्याएं पूछी, किसानों ने सिंचाई को पानी न मिलने, टूटी सड़क और फसल के उचित दाम न मिलते  की शिकायत करते हुए आवारा जानवरों से छुटकारा दिलाने की गुहार की। राहुल गांधी ने उनसे सुविधा के बारे में पूछा। किसानों ने उसके सामने सांड की समस्या रखी। किसानों ने कहा कि सांड उनकी काफी फसल को खराब कर देते हैं। इसके बाद राहुल गांधी आगे रवाना हो गए।  

Posted By: Dharmendra Pandey