अमेठी : तीन दिवसीय दौरे के दूसरे दिन मंगलवार को काग्रेस अध्यक्ष एवं स्थानीय सासद राहुल गाधी अलग-अलग अंदाज में दिखे। अमेठी के लोगों से मिलने के दौरान राहुल सरल और सहज नजर आए तो उनके भाषणों में केंद्र और प्रदेश सरकार को लेकर आक्रमकता दिखी। यह पहली दफ ा रहा जब राहुल जिले के प्रशासनिक अधिकारियों पर भी तल्ख रहे।

अमेठी के दौरे के पहले ही दिन सोमवार को राहुल ने ग्रामीणों के करीब जाने की कोशिश की। खेतों में जाकर किसानों का हाल-चाल लिया तो पार्टी नेताओं के निधन पर उनके घर जाकर उनके परिजनों को भी सांत्वना दी। स्वयं सहायता समूह की महिलाओं व किसानों के साथ वे घंटों जमीन पर बैठे रहे। दुकानों पर रुककर चाय की चुस्किया लीं। इसी दिन वह समय भी आया जब वे भाषण दे रहे थे और मोदी सरकार पर पूरी तरह आक्रामक थे। जैनबगंज में आयोजित किसान चौपाल में उन्होंने केंद्र और प्रदेश सरकार पर किसानों, बेराजगारों तथा महिलाओं का ठगने का आरोप मढ़ा। तेतारपुर के गेस्ट हाउस में भी दोनों दिन राहुल मिलने आने वाले से दिल खोलकर मिले, लेकिन वहा से निकलते ही मझगवां में सामुदायिक मिलन केंद्र के लोकार्पण के दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला करते हुए उन्हें 15 मिनट भी सामने न टिकने की बात कही। उनकी आक्रामकता का यह क्रम निगरानी समिति की बैठक में भी जारी रहा। बैठक में पहली बार ऐसा हुआ जब राहुल पूरी तरह मुखर थे। उन्होंने यूपीए सरकार के दौरान चलाई गई एक-एक योजनाओं की प्रगति की जानकारी ली और संतोषजनक उत्तर न मिलने पर जिम्मेदारों को आड़े हाथों लिया। बात कुछ भी रही हो, लेकिन अमेठी की जनता राहुल का यह मिश्रित रूप काफ रास आया। लोगों की मानें तो जिले के अधिकारियों से मिलते रहेंगे तो स्थानीय समस्याएं अपने आप दूर हो जाएंगी। इस बार नहीं दिखा सुरक्षा का तामझाम

तेतारपुर के गेस्ट हाउस राहुल गांधी से मिलने के लिए मंगलवार को सुबह से ही लोगों की भीड़ इकट्ठा होनी शुरू हो गई थी। राहुल गाधी का जनता से मिलने का नजरिया बदला-बदला सा नजर आया। बिना किसी रोक-टोक के लोग मिल रहे थे। अमेठी, तिलोई, गौरीगंज सहित मुसाफिरखाना क्षेत्र के लोगों की भीड़ जमा रही। गेस्ट हाउस पर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता हाजी मोहब्बत अली व्हीलचेयर पर पहुंचे। राहुल ने उनका हालचाल जाना, जिसके बाद पार्टी को लेकर चर्चा की। यहीं पर महाराष्ट्र में भाजपा की यूथ विंग में रहीं मालिका राजपूत ने भी राहुल से मुलाकात कर घर वापसी की चर्चा की। चढ़ाई चादर, व्यक्त की संवेदना

जायस के गाधी नगर स्थित मदरसा ताजुल उलूम में राहुल गाधी ने पहुंचकर दिवंगत मौलाना हसन रजा की मृत्यु पर उनके परिजनों से मुलाकात कर उन्हें ढांढस बंधाया। राहुल ने मदरसे में बनी मजार पर चादर चढ़ाई। इसके बाद हाथ जोड़कर नमन कर वे गौरीगंज के लिए रवाना हुए।

By Jagran