अमेठी : यूं तो काग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाधी देश और दुनियाभर में आते-जाते रहते हैं और वहा के चुनिंदा व्यंजनों का जायका भी लेते हैं, लेकिन जब वे अपने घर यानी अमेठी में होते हैं तो यहीं के हिसाब से ही रच बस जाते हैं। शायद यही वजह है कि मंगलवार को अमेठी सासद जब दोपहर का भोजन लेने के लिए गौरीगंज स्थित केंद्रीय काग्रेस कार्यालय के गेस्ट हाउस पहुंचे तो उनकी थाली अमेठी के सादे व्यंजनों से सजी थी।

सासद राहुल गाधी गौरीगंज अतिथि गृह में पहली बार लंच करने आए थे। उनके आने की भनक लगते ही तैयारिया शुरू कर दी गईं। हालांकि, मुशीगंज गेस्ट हाउस से बनने वाले दोपहर भोजन के मेन्यू में कोई परिवर्तन नहीं किया गया। शायद राहुल ने कह रखा था कि जो भी बना है हम भी वही खाएंगे। मुंशीगंज से डिब्बों में बंद करके भोजन गौरीगंज लाया गया। राहुल के सामने रोटी के साथ भिंडी की सब्जी, पनीर, बासमती चावल, अरहर की दाल फ्र ाई, सलाद, अचार व दही परोसे गए। अमेठी सासद ने सभी व्यंजनों का जायका लिया और भिंडी की सब्जी की तारीफ की। अतिथि गृह में लगभग एक घंटे तक राहुल का पड़ाव रहा। इसके बाद उन्होंने कार्यालय के सभी कक्षों का निरीक्षण किया। राहुल ने कार्यालय में काम करने वाले कर्मचारी सिद्धनाथ यादव व पुनीत का भी हालचाल लिया। अधिवक्ताओं ने सौंपा ज्ञापन

जिला बार एसोसिएशन अध्यक्ष राम शकर शुक्ल की अगुवाई में अधिवक्ताओं के पाच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने अतिथि गृह में ही राहुल से मुलाकात कर दीवानी न्यायालय अब तक न शुरू होने की शिकायत की, जिस पर सासद ने अपनी ओर से पूरी कोशिश करने का भरोसा दिलाया। बुद्धिजीवियों से भी मिले राहुल

गौरीगंज अतिथि गृह के प्रवास के दौरान ही राहुल ने बुद्धिजीवियों से भी मुलाकत की। वरिष्ठ साहित्यकार जगदीश पीयूष, राकेश पांडेय आदि से मिलकर देश के हालात पर चर्चा की।

Posted By: Jagran