अमेठी : अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आवाहन पर जिले में पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेसियों ने प्रदर्शन किया। जिले के प्रत्येक ब्लॉक में पेट्रोल पम्प के सामने कांग्रेसियों ने बैठकर प्रदेश व केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की। जिलाध्यक्ष प्रदीप सिघल ने कहा कि कोरोना की इस महामारी के बीच पूरे देश में पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में जबरदस्त बढ़ात्तरी हुई है। ईंधन की कीमतों में यह ऐतिहासिक और निरन्तर वृद्धि ऐसे समय में हो रही है। जब नागरिक कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रभाव से जूझ रहे हैं। देश के कई हिस्सों में पेट्रोल की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर का आंकड़ा भी पार कर गई हैं। पेट्रोल डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी होने से सभी घरेलू सामानों और आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में अप्रत्याशित वृद्धि होना निश्चित है। पिछले 13 महीने में पेट्रोल 25.72 व डीजल 23.93 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई है। इस साल के पिछले 5 महीनों में 43 बार यह वृद्धि दर्ज की गयी है। यह केन्द्र सरकार द्वारा की गयी अत्यधिक सार्वजनिक लूट का एक उदाहरण है। प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसियों ने ईंधन की कीमतों में वृद्धि को तत्काल वापस लेने की मांग की। सांकेतिक विरोध प्रदर्शनों के दौरान पेट्रोल की कीमतों में हो रही निरन्तर वृद्धि एवं अभूतपूर्व आर्थिक मंदी, व्यापक बेरोजगारी भत्तों में कटौती व खत्म होती नौकरियों तथा आसमान छूती कीमतों के बोझ तले दबे लोगों पर उसके प्रभाव सम्बन्धी मुद्दों को भी उठाया गया। पूर्व जिलाध्यक्ष योगेंद्र मिश्रा, शत्रुघ्न सिंह, चंद्रशेखर मिश्र, सुनील सिंह, रामबरन कश्यप, शिवेंद्र विक्रम सिंह, सौरभ मिश्रा, आयुष त्रिपाठी, अभिषेक सिंह, मो. ताहिर फारूकी, नरेंद्र सिंह सोनू, शशिकांत साहू, सूर्यभान सिंह, विनोद मिश्रा, दीपक आर्य, राम मनोहर सरोज, कुलवंत सिंह, महादेव पांडेय, अजीत यादव, जगन्नाथ यादव, परमानंद पांडे, संतोष सिंह, राजरानी पाल, बंसी, डा. देवमणि तिवारी, विजय पासी, हनुमंत विश्वकर्मा, राजीव लोचन तिवारी, अशोक शुक्ला, रामप्रताप पांडेय, संजय यादव, नंद कुमार यादव, राजू ओझा, जय बहादुर यादव, राम शंकर शुक्ला, शुभम सिंह मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप