अमेठी : शहर का ऐतिहासिक भरत मिलाप कार्यक्रम रविवार सुबह संपन्न हुआ। शहर में शनिवार शाम भरत मिलाप शुरू हुआ। विधायक गरिमा सिंह ने भरत मिलाप कार्यक्रम का शुभारंभ किया। राम दरबार की आरती उतारकर कार्यक्रम की शुरुआत हुई। रात भर सभी मार्गो पर आकर्षक झांकियों की शोभा देखते ही बन रही थी। भक्तिगीतों की धुन पर युवाओं का समूह थिरक रहा था। सभी मार्गो पर अपनी प्रतिभा दिखाने के बाद गांधी चौक पर अलग अलग मंडलों ने अपने बैंड के साथ प्रदर्शन किया। रात भर निर्णायक मंडल की देखरेख में मंडल और झांकियों का प्रदर्शन जारी रहा। सुबह चौक पर भरत मिलाप कार्यक्रम के समापन की घोषणा हुई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. संजय सिंह ने पुरस्कार वितरण किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अमेठी की गंगा जमुनी तहजीब एक मिसाल है। जामा मस्जिद के सामने शहर का ऐतिहासिक भरत मिलाप कार्यक्रम सदियों से चला आ रहा है। इस कार्यक्रम में दोनों समुदाय के लोगो का विशेष सहयोग सदैव रहा है। यह एक मिसाल रही है। अमेठी के लोगों में ऐसा ही भाईचारा सदैव कायम रहे। समिति के पदाधिकारियों को उत्कृष्ट आयोजन की बधाई दी। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला पंचायत अध्यक्ष राजेश अग्रहरि ने किया। जिला पंचायत अध्यक्ष ने कहा कि हम लोग बचपन से भरत मिलाप कार्यक्रम से जुड़े हैं। हमने भी झांकी सजाई है। ऐसा कार्य करने वाले हमारे नौजवानों को विशेष बधाई। मंडल झांकी सजाकर भरत मिलाप कार्यक्रम में शामिल होना आसान कार्य नहीं है। कई महीनों से इसकी तैयारी करके यह कार्य किया जाता है। राम लीला समिति के अध्यक्ष पवन अग्रवाल ने सभी अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम में न्यू अमर ज्योति मंडल, गायत्री मंडल, आदर्श मंडल, जय हो मंडल, अन्नपूर्णा मंडल, श्रृंगार ज्योति मंडल की झांकी शामिल हुई। इस मौके पर अरविद सिंह, टीपी सिंह, प्रदीप अग्रवाल, राजकुमार अग्रवाल, अशोक सिंह, जय प्रकाश लोहिया, आनंद बरनवाल सहित तमाम पदाधिकारी मौजूद रहे ।सभी मंडलों को अतिथियों की ओर से पुरस्कृत किया गया।

Edited By: Jagran