अमेठी (जेएनएन)। जगदीशपुर में मंगलवार दोपहर सरे बाजार युवक की हत्या कर दी गई। जबकि, दो हमलावरों समेत तीन लोग घायल हो गए। मामले को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश भी हुई लेकिन, पुलिस की सतर्कता से माहौल बिगडऩे से बच गया। दो हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि लापरवाही पर जगदीशपुर के एसओ को निलंबित कर दिया गया है। 

कमरौली थानाक्षेत्र के अंतर्गत बरसंडा गांव निवासी अशफाक (30) अपनी ससुराल जगदीशपुर थानाक्षेत्र के बड़ा गांव में रहता था। मंगलवार दोपहर 12 बजे के करीब वह साथियों के साथ विजया बैंक के पास रुका ही था कि बाइक सवार तीन हमलावरों ने उस पर बम से हमला कर दिया। बम नहीं फटा तो हमलावरों ने अंधाधुंध फायङ्क्षरग शुरू कर दी। गोली लगने से अशफाक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उसका एक साथी घायल हो गया। अशफाक के साथियों की जवाबी फायङ्क्षरग में छपरा (बिहार) निवासी एक हमलावर अमित चौबे व उसका साथी घायल हो गए, जिनका पुलिस अभिरक्षा में इलाज चल रहा है। अन्य हमलावर फरार हो गए। मौके से पुलिस को एक बंदूक, दो पिस्तौल और दो लाख 43 हजार रुपये की नकदी भी बरामद हुई है।

 

गोली चलने पर व्यापारियों ने अपनी दुकानों के शटर गिरा दिए। मामला दो संप्रदायों के बीच का होने के चलते स्थित तनावपूर्ण हो गई। घायलों को इलाज के लिए सीएचसी जगदीशपुर लाया गया था लेकिन, यहां सैकड़ों की तादाद में लोग जमा हो गए। जिलाधिकारी शकुंतला गौतम, एसपी केके गहलौत, एडीएम ईश्वरचंद्र, एएसपी बीसी दूबे सहित कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची। सीएचसी पर भीड़ ने पुलिस पर पथराव भी किया। हालांकि, काफी प्रयास के बाद हालात पुलिस के काबू में आ सके। 

 

घटना की सूचना पर एडीजी लखनऊ जोन अभय प्रसाद व आइजी जोन फैजाबाद विजय प्रकाश भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने आरोपियों की गिरफ्तारी के निर्देश दिए। वहीं, लापरवाही पर जगदीशपुर एसओ को निलंबित कर दिया गया है। एसपी केके गहलोत के मुताबिक, आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पांच टीमें गठित की गई हैं। मौके पर पीएसी के साथ पुलिस बल भी तैनात किया गया है। फरार आरोपियों की भी तलाश की जा रही है।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप