अमेठी : बरसात व आंधी के चलते जायस पावर हाउस की विद्युत व्यवस्था एक बार फिर ध्वस्त हो गई है। रविवार सुबह पांच बजे से बिजली उपकेंद्र जायस की बिजली बीते बारह घंटों तक गुल रही। बिजली सप्लाई बाधित होने से नगर पालिका की पानी सप्लाई भी पूरी तरह ठप्प हो गई। काफी मशक्कत के बाद शाम को बिजली सप्लाई बहाल हो सकी।

फाल्ट के चलते सुबह विद्युत सप्लाई ब्रेक डाउन हो गई है। 11 बजे बिजली उपकेंद्र की आउटसोर्सिंग लाइन मैनों की टीम ने पैट्रोलिग शुरू की। लेकिन, लाइन मैन घंटों फाल्ट न ढूंढ़ सके। जिससे पिछले 12 घंटों से नगर व देहात क्षेत्रों में बिजली गुल रही और क्षेत्र के लाखों लोगों को परेशानी से दो-चार होना पड़ा। नगर पालिका की पानी की सप्लाई व्यवस्था भी बिजली सप्लाई पर ही निर्भर है। इसलिए बिजली व्यवस्था बाधित होने से नगर की वाटर सप्लाई भी पूरी तरह ठप्प हो गई। जिससे लोगों में पीने के पानी के लिए भी परेशान होना पड़ा। नगर के लोगों की माने तो उपकेंद्र से मिलने वाली सप्लाई में वैसे ही बेतहाशा कटौती हो रही है। साथ ही लो वोल्टेज और ट्रिपिग की समस्या से भी जूझना पड़ रहा है। उस पर 12 घंटों से पावर हाउस की बिजली सप्लाई भी पूरी तरह ठप्प हो गई।

विद्युत उपकेंद्र के जेई सुरेश कुमार का कहना है कि बीती रात करीब एक बजे तेज बारिश और हवाओं के चलते बिजली उपकेंद्र जायस की 33 हजार केवीए गौरीगंज की लाइन में कई स्थानों पर फाल्ट आ गया। जिसे ठीक कराया जा रहा है।

गौरीगंज के गांवों में भी अंधेरा : बारिश के साथ तेज हवाओं के चलने से जगह-जगह लाइनों में फाल्ट के चलते गौरीगंज तहसील के एक सैकड़ा से अधिक गांवों में शनिवार रात से ही अंधेरा छाया है। बरनाटीकर पावर हाऊस से जुड़े गांव भी अंधेरे में डूबे हुए हैं। बिजली नहीं आने से पूरे दिन लोगों को तमाम समस्याओं से दो चार होना पड़ा। वहीं रविवार की देर शाम तक फाल्ट सही नहीं हो पाई।

Edited By: Jagran