अमेठी : कोविड टीकाकरण की रफ्तार तेज करने के लिए जिलाधिकारी अरुण कुमार ने एक योजना बनाई और पिछले तीन दिनों में उनकी योजना को धरातल पर कामयाबी भी मिली है। पिछले तीन दिनों में कोविड टीकाकरण में तेजी आई है। जिलाधिकारी की गांव-गांव जागरूकता लाने के लिए ग्राम प्रधानों को माध्यम बनाने की पहल का प्रभाव दिखने लगा है। शाहगढ़ के बाद शुक्रवार को जामो में कोविड टीकाकरण अभियान को गति देने तथा शासन द्वारा संचालित समस्त विकास कार्यक्रमों को तेजी से प्रारंभ करने के उद्देश्य से नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों के उन्मुखीकरण हेतु कार्यशाला का आयोजन हुआ। कार्यशाला का शुभारंभ जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी डॉ. अंकुर लाठर ने किया। जिलाधिकारी ने कार्यशाला में मौजूद नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों को बधाई देते हुए कहा कि कोरोना महामारी से बचाव हेतु आप सभी अपना टीकाकरण अवश्य कराएं तथा अपनी-अपनी ग्राम पंचायतों में भी 18 वर्ष से ऊपर आयु के सभी व्यक्तियों का टीकाकरण कराएं। जब स्वयं स्वस्थ रहेंगे तभी विकास कार्य कर पाएंगे। इसलिए स्वयं का टीकाकरण कराते हुए अपने परिवार वालों, आस-पडो़स के व्यक्तियों तथा अन्य लोगों का टीकाकरण जरूर कराएं। टीका पूर्णतया सुरक्षित है। इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। टीकाकरण कराने के उपरांत पॉजिटिविटी दर बहुत ही कम है। यदि पॉजिटिव होते हैं तो रिकवरी बहुत जल्दी होती है। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि ग्राम प्रधान अपना वैक्सीनेशन कराने के साथ ही गांव में अधूरे पड़े विकास संबंधी कार्यों को तेजी के साथ प्रारंभ करें। जिन ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय, पंचायत भवन, विद्यालयों का कायाकल्प, नाली, खड़जा आदि कार्य कराए जाने हो तो शीघ्र कार्य योजना बनाकर कार्य प्रारंभ कराएं। पांच जून से पांच जुलाई के मध्य जो भी ग्राम प्रधान अपनी ग्राम पंचायतों में सबसे अधिक व्यक्तियों का टीकाकरण कराएंगे। उनको जनपद स्तर पर सम्मानित किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आशुतोष दुबे, जिला पंचायत राज अधिकारी श्रेया मिश्रा, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. सीएस अग्रवाल, खंड विकास अधिकारी सहित नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप