अमेठी : मुख्य चिकित्साधिकारी ने शनिवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया। इमरजेंसी वार्ड और प्रसव कक्ष की साफ सफाई व अन्य व्यवस्थाएं दुरुस्त मिली। वहीं तीन एएनएम द्वारा पोर्टल पर फीडिग शून्य रही। जिससे खफा सीएमओ ने तीनों नर्सों का वेतन रोकने का निर्देश दिया है। निरीक्षण के पश्चात उन्होंने किशोरी व आशा कार्यकर्ताओं की संगोष्ठी को भी संबोधित किया। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. सीमा मेहरा ने अस्पताल परिसर की साफ-सफाई व्यवस्था देखी। इसके पश्चात उन्होंने ओपीडी, पर्चा काउंटर व दवा वितरण कक्ष का भी निरीक्षण किया। सीएमओ ने एचएमडीएस पोर्टल पर वैक्सीन का मिलान करने की बात कही। टीकाकरण कार्य में लगे सुपरवाइजरों की बैठक कर उन्होंने टीकाकरण की प्रगति को जाना। सीएमओ ने पोर्टल की जांच पड़ताल की तो स्टाफ नर्स रेनू, सरिता और सुषमा त्रिपाठी द्वारा एक भी फीडिग नहीं की गई थी। इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए उन्होंने तीनों स्टाफ नर्स का वेतन रोकने का निर्देश दिया। कहा कि पोर्टल पर डाटा फीडिग का कार्य प्रत्येक दिन होना चाहिए। निरीक्षण के बाद मुख्य चिकित्साधिकारी ने संगोष्ठी में प्रतिभाग किया। उन्होंने किशोरियों को संबोधित करते हुए कहा कि माहवारी के दौरान शरीर की आंतरिक साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देना चाहिए। कहा कि मासिक धर्म के दौरान कपड़े का उपयोग बिल्कुल न करें। इस दौरान सेनेटरी पैड का इस्तेमाल करना चाहिए। इस मौके पर जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. सीएस अग्रवाल, डा. जकारिया चौहान, बीसीपीएम अनिल मिश्र, दीपक शुक्ल समेत अन्य लोग उपस्थित रहे। सीएमओ की कार्रवाई के बाद से मातहतों में हड़कंप मचा रहा, कर्मचारी सकते में रहे।

Edited By: Jagran