कंचन सिंह, अमेठी :

सैनिक स्कूल के अधूरे काम को पूरा कराने के लिए शासन ने 26 करोड़ से अधिक की धनराशि जारी कर दी गई है। स्कूल निर्माण के लिए कार्यदाई संस्था ने 15691.43 लाख रुपये का बजट बनाकर भेजा था। बाद में निर्माण सामाग्री की कीमत बढ़ने से पुनरीक्षण प्रस्ताव भेजा गया था। जिसे शासन ने मंजूर कर लिया है।

कौहार स्थित सैनिक स्कूल के निर्माण के लिए नामित कार्यदाई संस्था यूपी राजकीय निर्माण निगम लिमिटेड ने बजट बनाकर प्रस्ताव भेजा था। पहले चरण में 60 करोड़ नौ लाख 88 हजार रुपये की धनराशि की प्रशासनिक मंजूरी प्रदान की गई। वित्तीय वर्ष 2016-17, 2017-18 व 2018-19 में अलग अलग तारीखों में धन भेजा गया है। जिसमें पहली किस्त के रूप में 24 करोड़, दूसरी में 13 करोड़ 22 लाख 44 हजार, तीसरी किस्त की 20 करोड़ एवं 287.44 लाख सहित 6009.88 लाख रुपये जारी किए गए। धन खर्च होने के बाद परियोजना के लिए प्रथम चरण में प्रस्तावित पुनरीक्षण लागत 10671.85 लाख के सापेक्ष 9531.94 लाख रुपये की धनराशि को अनुमोदन प्रदान किया गया है। वित्तीय वर्ष 2020-21 में पांचवीं किस्त की 365.44 लाख रुपये भेजी गई है। वित्त समिति द्वारा अनुमोदित पुनरीक्षित लागत 9531.94 लाख के सापेक्ष पहले जारी धनराशि 6375.32 लाख को समायोजित करने के बाद बाकी धनराशि 3156.62 लाख के सापेक्ष छठवीं किस्त के रूप में 26 करोड़ 80 लाख दो हजार रुपये की धनराशि को राज्यपाल ने मंजूरी प्रदान की है। इसके बाद अब परियोजना द्वारा भेजी जाने वाली पुनरीक्षित धनराशि मंजूर नहीं की जाएगी। वहीं 12 फीसद जीएसटी भी मंजूर किया गया है। जिसे परियोजना विभिन्न कार्य मदों में शामिल नहीं कर सकेगी। बजट में दिखाए गए लेबर सेस की कुल धनराशि इस शर्त के अधीन होगी कि श्रम विभाग को उक्त धनराशि का भुगतान किया जाएगा। वहीं कार्यदाई संस्था को दो दो माह की जरूरत के अनुसार धनराशि जारी करने का आदेश दिया गया है। जिला विद्यालय निरीक्षक जेके वर्मा ने कहा कि जारी आदेश के अनुसार ही कार्यदाई संस्था को धन आवंटित किया जाएगा।

Edited By: Jagran