अमेठी : नगर पंचायत को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की कवायद शुरू हो गई है। बारह करोड़ की लागत से शहर के दो तालाबों का कायाकल्प होगा। तालाब को अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा।

शहर की साज सज्जा को बेहतर बनाने की कवायद एक वर्ष से हो रही है। गांधी चौक पर सेल्फी स्पाट और शहर के चाणक्यपुरी मोहल्ले में पार्क बनाने का कार्य शुरू हो गया। दो तालाबों के सुंदरीकरण के लिए नगर पंचायत की ओर से डीपीआर तैयार करके 12 करोड़ के बजट का प्रस्ताव भेजा गया था। शासन की ओर से कार्य की स्वीकृति मिल गई है।

नगर पंचायत अध्यक्ष चंद्रमा देवी के प्रयास से लोगों के लिए निष्प्रयोज्य साबित हो रहे तालाबों का सुंदरीकरण कराए जाने को लेकर कवायद शुरू कर दी गई है। शहर के सगरा तिराहा वार्ड नंबर चार स्थित श्री राम तालाब और वार्ड नंबर सात स्थित धोबी घाट तालाब का सुंदरीकरण पहले कराया जाएगा। उक्त दोनों तालाब सौंदर्यीकरण मद से करीब 12 करोड़ रुपये की लागत से विकसित किए जाएंगे। शासन ने स्वीकृति प्रदान की है। उक्त दोनों तालाब में फिल्टर मशीन, बत्तख बोर्ट, नौकायन आदि की व्यवस्था होगी। वहीं तालाब के किनारे को पार्क के रूप में विकसित किया जाएगा। जहां लाइटिग, कुर्सियां, पौध रोपण के साथ ही फूल क्यारी, घास आदि लगवाए जाएंगे। अधिशासी अधिकारी एचपी सिंह ने बताया कि सौंदर्यीकरण मद से उक्त दोनों तालाबों का सुंदरीकरण कराए जाने की शासन से स्वीकृति मिल गई है। अध्यक्ष चंद्रमा देवी ने बताया कि शहर को सुंदर बनाने के लिए हर मुमकिन प्रयास किया जा रहा है।

पढ़ें अन्य खबरें..

अमेठी : विकास कार्यों की समीक्षा में दो सौ से अधिक आवास अधूरे मिले हैं। इससे नाराज सीडीओ ने बारह खंड विकास अधिकारियों को प्रतिकूल प्रविष्टि प्रदान किया है।

बुधवार को मुख्य विकास अधिकारी डा. अंकुर लाठर ने विकास कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना के 222 आवास अधूरे मिले। इस पर उन्होंने संबंधित अधिकारियों पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने खंड विकास अधिकारी अमेठी, भादर, बहादुरपुर, भेटुआ, गौरीगंज, जगदीशपुर, जामो, मुसाफिरखाना, शाहगढ़, बाजारशुकुल, सिंहपुर व तिलोई को प्रतिकूल प्रविष्टि प्रदान किया है। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों में लापरवाही करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran