अंबेडकरनगर : बदलते मौसम में सर्दी-बुखार एवं अन्य देशों में कोविड की आहट से एक बार फिर स्वास्थ्य विभाग चौकन्ना हो गया है। अब पूरा फोकस टीकाकरण पर है, क्योंकि कोई भी ऐसा गांव-मुहल्ला नहीं है, जो टीके से शत-शत प्रतिशत आच्छादित हो। वहीं, त्योहारी सीजन में गैर प्रांतों से लोगों के आने और बाजारों, सरकारी कार्यालयों में कोविड के प्रति भारी लापरवाही बरते जाने से चिता और बढ़ गई है। ऐसे में गांवों को सौ फीसद टीकायुक्त करने के लिए डीएम सैमुअल पॉल ने खुद कमान संभाल ली है। टीका केंद्र और लक्ष्य बढ़ाने के साथ प्रधानों, लेखपालों को भी टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने की जिम्मेदारी सौंपी जा रही है। चिकित्सक बदलते मौसम और त्योहार में कोविड नियमों का पालन करने की अपील लोगों से कर रहे हैं।

सौ फीसद टीकाकरण करने के लिए एक नवंबर से क्लस्टर माडल 2.0 लागू होगा। शहरी क्षेत्रों में शाम आठ से 10 बजे तक टीकाकरण सत्र चलाया जाएगा, ताकि दिन में टीका नहीं लगवा पाने वाले भी टीका लगवा सके। सभी राजस्व ग्रामों में टीकाकरण की पहली डोज का आकलन लेखपाल करेंगे। 95 फीसद या उससे अधिक, 80 से 95 फीसद और 80 फीसद से कम प्रथम डोज वाले गांवों को तीन श्रेणियों ए, बी तथा सी में बांटा जाएगा। कोविड सुरक्षित गांव से होगी पहचान : जिस गांव के सौ फीसद लाभार्थियों को पहली डोज लग जाएगी उसे प्रथम डोज संतृप्त गांव कहा जाएगा। यहां के प्रधान सम्मानित किए जाएंगे। दोनों डोज पूर्ण करने वाले गांव को कोविड सुरक्षित गांव की संज्ञा दी जाएगी। इन गांवों में 15 नवंबर तक पहली डोज तथा 31 दिसंबर तक दूसरी डोज पूर्ण होना जरूरी है। टीकाकरण पर लापरवाही पड़ रही भारी : केंद्रों पर पहले टीकाकरण के लिए घंटों कतार लगानी पड़ रही थी, लेकिन अब इक्का-दुक्का लोग ही केंद्र पर पहुंच रहे हैं। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. रामानंद सिद्धार्थ ने बताया कि पहली डोज लगवाने वाले भी लापरवाही कर रहे हैं। समय पूरा होने के बाद भी केंद्रों पर नहीं पहुंच रहे हैं। अधिकांश लोगों को टीका भी लगाया जा चुका है। अब तक 14 लाख 51 हजार 871 को टीका लग चुका है। टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने का प्रयास शुरू हो गया है। जिलाधिकारी के निर्देश पर पहली नवंबर से विशेष तैयारी के साथ टीकाकरण सत्र चलाया जाएगा। इसमें एक-एक गांवों को पूर्ण रूप से टीकाकरण श्रेणी में शामिल करना है। सर्दी-बुखार एवं भीड़भाड़ वाली जगह पर जाने से पहले मास्क का प्रयोग जरूर करें।

श्रीकांत शर्मा, सीएमओ

Edited By: Jagran