अंबेडकरनगर : मानसून आने से पहले की बारिश से मौसम सुहाना हो गया है। पिछले तीन दिनों से जारी तेज व धीमी बारिश ने भीषण गर्मी से राहत दी है, लेकिन उमस अभी परेशान कर रही है। बारिश से मेंथा लगाने वाले किसान परेशान हैं। सब्जी व दलहनी फसलों को भी नुकसान हुआ है। बारिश जारी रहने से यातायात भी प्रभावित हुआ है। भीटी तहसील के खमपुर गांव में बिजली गिरने से एक युवक झुलस गया, उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

भीटी : महरुआ थाने के गांव गोइंथा के पास चलती पिकअप पर बिजली गिर गई। इसकी चपेट में आकर वाहन सवार अहिरौली थाना के गांव भटपुरा निवासी अजीत झुलस गया। बाकी पांच सहयोगी बाल-बाल बच गए। ये लोग रविवार को सुलतानपुर जनपद में शादी समारोह में सजावट करने जा रहा थे। विसुही नदी का बड़ेरिया घाट पार कर गोइंथा गांव के पास पहुंचे थे, तभी तेज गर्जना के साथ बिजली वाहन पर गिरी।

तापमान में आई गिरावट: बारिश होने से उमस बढ़ी है, लेकिन तापमान में तेजी से गिरवट हुई है। इससे मौसम सुहाना हो गया है। जिले का तापमान अधिकतम 31 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 26 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मौसम विभाग ने आगामी सप्ताह में लगातार बारिश जारी रहने का अनुमान लगाया है।

मेंथा और सब्जियों की फसलों को नुकसान : तैयार मेंथा फसल की कटाई-पेराई में जुटे किसानों को बारिश ने मुसीबत में डाल दिया है। इस फसल को बारिश से काफी नुकसान हुआ है। खेत में खड़ी फसल से मेंथा आयल फिर से जमीन में उतर गया है। वहीं कट चुकी फसल के सड़ने का खतरा बना है। दलहनी फसलों को भी नुकसान हुआ है। सब्जियों की फसल में पानी लगने से इनके सूखने का खतरा बढ़ गया है।

धान की नर्सरी लगाने में फायदा: धान की नर्सरी लगाने में जुटे किसानों को ऐन वक्त पर बारिश का पानी मिला है। ऐसे में डीजल डालकर सिचाई करने से छुटकारा मिल गया है। बारिश का पानी खेतों में रोकने के लिए किसान जुट गए हैं। हालांकि, जहां नर्सरी डाली जा चुकी है, वहां अधिक बारिश होने से इसे नुकसान होने की संभावना है।

Edited By: Jagran