अंबेडकरनगर : ट्रेलर से कुचलकर युवक की मौत के बाद बेकाबू भीड़ को संभालने के लिए पुलिस को घंटों जद्दोजहद करनी पड़ी। सैकड़ों की उग्र भीड़ देख पुलिस अधिकारियों ने मालीपुर, जैतपुर, सम्मनपुर, कटका और जलालपुर थाने से फोर्स बुलाई और लोगों को तितर-बितर करने की कोशिश की, लेकिन ग्रामीण सड़क पर जमे रहे। ऐसे में दोनों तरफ वाहनों की कतार लग गई। घंटों आवागमन ठप रहने से पुलिस अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए।

डीएम, एसपी व एएसपी भी मान-मनौव्वल में जुटे रहे, लेकिन इसका कोई असर नहीं हुआ। सीओ जलालपुर केके शुक्ल और सीडीपीओ बलराम सिंह माइक के जरिए लोगों से सड़क छोड़ने की अपील करते रहे, लेकिन पीड़ित पक्ष त्वरित मुआवजे सहित ट्रेलर चालक और परिवहन विभाग के अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग करता रहा। सभी से जलालपुर थाने पहुंचकर वहां अपना पक्ष रखने पर कार्रवाई का आश्वासन दिया गया तो भीड़ शांत हो गई। इसके बाद पुलिस ने राहत की सांस ली। सीओ केके शुक्ल ने बताया कि अभी किसी पक्ष से तहरीर नहीं मिली है। जांच-पड़ताल की जा रही है। जनप्रतिनिधि भी पहुंचे: घटनास्थल पर जलालपुर विधायक सुभाष राय व भाजपा नेता डा. राजेश सिंह भी पहुंचे। भीड़ से शांति बनाए रखने का आग्रह करते हुए हरसंभव सरकारी मदद दिलाने और कार्रवाई का भरोसा दिलाया। विधायक सुभाष राय ने मृतक के परिवार को 20 लाख रुपये मुआवजा देने की मांग रखी। डा. राजेश सिंह ने प्रशासन से सहायता देने के लिए कहा।

जीप जलाने के मामले में पुलिस प्रशासन ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Edited By: Jagran